Sep २८, २०२२ १७:३२ Asia/Kolkata

सिपाहे पासदाराने इंक़ेलाबे इस्लामी आईआरजीसी की सैय्यदुश्शोहदा हमज़ा सैन्य बेस से आतंकवादियों के एक ठिकाने को मिज़ाइल और ड्रोन से निशाना बनाया गया है।

आईआरजीसी की थल सेना के मुख्यालय सैय्यदुश्शोहदा ने बुधवार को एक बयान जारी करके बताया है कि इस्लामी गणतंत्र ईरान के ख़िलाफ़ आतंकी कार्यवाहियों को अंजाम देने वाले साम्राज्यवादी शक्तियों का समर्थन प्राप्त आतंकवादी गुटों के ख़िलाफ़ ईरान के मिज़ाइल और ड्रोन ने एक विशेष कार्यवाही करते हुए आतंकियों के ठिकाने पर हमला किया है। आईआरजीसी ने अपने बयान में कहा है कि इराक़ के कुर्दिस्तान क्षेत्र के अधिकारियों को आवश्यक चेतावनी के बाद वैध और क़ानूनी तरीक़े से आतंकियों पर मौत बनकर ईरान के मिज़ाइल और ड्रोन बरसे हैं। आईआरजीसी ने इस बात पर बल दिया है कि आगे भी वह आतंकी गुटों के ख़िलाफ़ इस तरह की कार्यवाही करता रहेगा। ग़ौरतलब है कि ईरान के सीमावर्ती क्षेत्रों और कुछ सीमावर्ती ठिकानों और चौकियों पर हमले के साथ-साथ देश में हुए हाल के दंगों में मुख्य भूमिका निभाने वाले आतंकी गुटों के ख़िलाफ़ आईआरजीसी ने विशेष आप्रेशन आरंभ किया है।

आईआरजीसी के बयान में आया है कि इस्लामी क्रांति के विरोधी जो लगातार देश की शांति के लिए ख़तरा पैदा करने की कोशिश करते रहते हैं और आम लोगों के जीवन को ख़तरे में डालने का प्रयास करते रहते हैं उनके ख़िलाफ़ बुधवार से एक नए सैन्य अभियान को आरंभ किया गया है। ईरानी राष्ट्र की शांति को भंग करने वाले कहीं भी छिपे होंगे हम उन्हें ढूंढ निकालेंगे। इराक़ी कुर्दिस्तान में इस समय इस तरह की आतंकी कार्यवाहियों को अंजाम देने वालों को केंद्र बना हुआ है। बुधवार को हुए हमले में आतंकवादियों के ठिकानों को निशाना बनाया गया है जिसमें आतंकियों को भारी नुक़सान हुआ है। बता दें कि आईआरजीसी ने 24 सितंबर को तोपखाने से आतंकियों के ठिकानों को निशाना बनाया था, जबकि 26 सितंबर को ड्रोन और तोपखाने से निशाना बनाया गया था। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें 

टैग्स