Oct ०६, २०२२ १२:३८ Asia/Kolkata
  • ईरान और दुनिया भर में इमाम मेहदी (अ) की इमामत की शुरूआत का जश्न

आज गुरुवार को इस्लामी कैलेंडर के रबीउल अव्वल महीने की 9 तारीख़ को ईरान और दुनिया भर के शिया मुसलमान अपने बारहवें इमाम हज़रत मोहम्मद मेहदी (अ) की इमामत की शुरूआत की वर्षगांठ का जश्न मना रहे हैं।

8 रबीउल अव्वल 260 हिजरी को 11वें इमाम हज़रत हसन असकरी (अ) की शहादत के बाद उनके बेटे हज़रत मेहदी इमामत के दर्जे पर आसीन हुए।

भारतीय उपमहाद्वीप में शिया मुसलमानों के लिए 8 रबीउल अव्वल की तारीख़ मोहर्रम से शुरू हुए सोग की आख़िरी तारीख़ होती है और लोग 9 रबीउल अव्वल को जश्न मनाते हैं।

इमामे ज़माना इमाम मेहदी अपने पिता की नमाज़े जनाज़ा पढ़ाने के बाद, लोगों की आंखों से ओझल हो गए थे, जिसे ग़ैबते सुग़रा कहा जाता है। 260 हिजरी से शुरू होने वाली ग़ैबते सुग़रा 329 हिजरी तक जारी रही। इस दौरान इमाम मेहदी अपने चार विशेष प्रतिनिधियों के माध्यम से लोगों के संपर्क में रहे।

उसके बाद ग़ैबते कुबरा यानी लम्बी अवधि के लिए लोगों की आंखों से ओझल होने का दौर शुरू हुआ, जो आज तक जारी है और ईश्वर जब चाहेगा दुनिया वालों को मुक्ति प्रदान करने के लिए उन्हें फिर से इसी दुनिया में प्रकट करेगा।

इस अवसर पर आईआरआईबी की हिंदी सेवा दुनिया के सभी स्वतंत्रता प्रेमियों को हार्दिक बधाई प्रस्तुत करती है। msm