Oct ०७, २०२२ १३:३१ Asia/Kolkata
  • इराक़ को ईरान का अहम संदेश, आतंकियों की गतिविधियां सहन नहीं की जाएंगी

ईरान और इराक़ के विदेशमंत्रियों टेलीफ़ोन वार्ता में क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय हालात पर चर्चा की।

ईरान के विदेशमंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान ने इराक़ के विदेशमंत्री फ़ुआद हुसैन से टेलीफ़ोन वार्ता में इराक़ के कुर्दिस्तान क्षेत्र से आतंकी गुटों की गतिविधियों की ओर इशारा करते हुए कहा कि दुर्भाग्य से ईरान की राष्ट्रीय सुरक्षा के विरुद्ध कुर्दिस्तान क्षेत्र से सशस्त्र गुटों की गतिविधियां चार दशकों बाद और क्षेत्र के अधिकारियों के बारम्बार वादों के बावजूद जारी हैं।

ईरानी विदेशमंत्री ने कहा कि जैसा कि हम इराक़ के साथ अच्छे संबंधों के विस्तार का सम्मान करते हैं और इसके लिए दृढ़ संकल्पित भी हैं किन्तु हम इन गुटों हमलों और आतंकी कार्यवहियों के क्रम को सहन नहीं कर सकते जो इराक़ी कुर्दिस्तान क्षेत्र में शरण लिए हुए हैं और ईरान की राष्ट्रीय सुरक्षा को निशाना बनाते हैं।

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री ने कहा कि हम कुर्दिस्तान के क्षेत्र में शरण लेने वाले और ईरान की राष्ट्रीय सुरक्षा को निशाना बनाने वाले गुटों की जारी गतिविधियों को सहन नहीं करेंगे।

इस टेलीफ़ोन वार्ता में विदेशमंत्री ने सऊदी अरब की जेल में क़ैद ईरानी हाजी की रिहाई के लिए इराक़ी विदेशमंत्री और प्रधानमंत्री के प्रयासों की सहरान की।

दूसरी ओर विदेशमंत्री ने फ़िनलैंड के विदेशमंत्री के साथ टेलीफ़ोन वार्ता में कहा कि हमने यूक्रेन की जंग में प्रयोग के लिए किसी भी तरह के हथियार न रूस भेजे हैं और न ही भविष्य में भेजे जाएंगे।

विदेशमंत्री ने फ़िनलैंड के अपने समकक्ष के साथ द्विपक्षीय संबंधों, प्रतिबंधों को उठाने वाली वार्ता, यूक्रेन संकट और ईरान के हालिया दंगों और ईरान के आंतरिक मामलों में विदेशी हस्तक्षेप तथा पश्चिमी देशों द्वारा दंगाईयों के समर्थन के विषय पर विचार विमर्श किया। विदेशमंत्री ने आयरलैंड के विदेशमंत्री से भी टेलीफ़ोन वार्ता की।

उन्होंने यूक्रेन जंग में तेहरान का पक्ष रखते हुए कहा कि हमने यूक्रेन की जंग में प्रयोग के लिए किसी भी तरह के हथियार न रूस भेजे हैं और न ही भविष्य में भेजे जाएंगे क्योंकि हमारा यह मानना है कि इस संकट को राजनीति द्वारा हल किया जा सकता है और दोनों पक्ष का हर तरह से सामरिक समर्थन, शांति की संभावनाओं को विलंबित कर देगा। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें

टैग्स