Jun १६, २०१९ २२:३३ Asia/Kolkata
  • ओमान सागर तेल टैंकर्ज़ दुर्घटना, अमरीका ने द्वितीय विश्व में भी ऐसी ही हरकत ....

इस्लामी गणतंत्र ईरान के संसद सभापति डाक्टर अली लारीजानी ने कहा है कि अमरीकी जनता एक दुष्ट और बेइज़्ज़त राजनैतिक माफ़िया के जाल में फंस गयी है जिसे अपने बयानों के परिणामों का कोई अनुमान नहीं होता।

संसद सभापति ने संसद की खुली बैठक में कूटनीति के प्रयोग के बारे में अमरीकी विदेशमंत्री माइक पोम्पियो के ताज़ा बयान के बारे में कहा कि एक ऐसे देश का विदेशमंत्री यह बयान दे रहा है जिसने आर्थिक आतंकवाद द्वारा अमरीकी अधिकारियों के कथनानुसार, ईरानी जनता के विरुद्ध सबसे कड़े प्रतिबंध लगाए है।

संसद सभापति ने कहा कि अमरीकी अधिकारियों ने आर्थिक आतंकवाद द्वारा एक क्रांतिकारी जनता को निशाना बनाया है क्या यह कूटनयिक कार्यवाही है? उन्होंने सवाला किया कि यमन की अत्याचारग्रस्त जनता के विरुद्ध सऊदी अरब को हथियारों से लैस करना कौन सा राजनैतिक क़दम है? क्या फ़िलिस्तीन के साहसी और बहादुर राष्ट्र के विरुद्ध अतिग्रहणकारी ज़ायोनी शासन के लिए अमरीका का बहुपक्षीय सैन्य समर्थन, एक राजनैतिक प्रक्रिया है?

संसद सभापति ने ओमान सागर में आयल टैंकर्ज़ को पेश आने वाली संदिग्ध दुर्घटना के बारे में कहा कि यह कार्यवाही भी आर्थिक प्रतिबंधों के ही दायरे में है।

उन्होंने कहा कि अब जबकि अमरीका आर्थिक प्रतिबंध लगाकर कुछ हासिल नहीं कर सका तो वह इस प्रकार के हथकंडे प्रयोग कर रहा है क्योंकि अमरीका इस प्रकार की कार्यवाहियां अतीत में भी अंजाम दे चुका है और उसने विश्व युद्ध के दौरान जापान के निकट अपने ही समुद्री जहाज़ों को निशाना बनाया था और यूं उसने जापान पर हमले का बहाना तैयार किया था। (AK)

टैग्स

कमेंट्स