Oct १५, २०१९ १३:४० Asia/Kolkata
  • द्विपक्षीय संबंधों में विस्तार ईरान और पाकिस्तान की प्रगति का कारण बनेगा

अली लारीजानी ने कहा है कि सहकारिता में वृद्धि ईरान और पाकिस्तान के विकास का कारण बनेगी।

ईरान और पाकिस्तान के संसद सभापतियों ने द्विपक्षीय संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने पर बल दिया है। ईरान के संसद सभापति डाक्टर अली लारीजानी ने सोमवार को दोपहर बाद बेलग्रेड में अंतरसंसदीय बैठक के अवसर पर अपने पाकिस्तानी समकक्ष असद क़ैसर से भेंट में दोनों देशों के समान दृष्टिकोणों और संस्कृति की ओर संकेत किया और कहा कि ईरान पाकिस्तान को सकारात्मक दृष्टि से देखता है।

उन्होंने कश्मीर से संबंधित समस्याओं के समाधान की आशा के साथ कहा कि आर्थिक मामलों में ईरान और पाकिस्तान की गतिविधियां कम हैं और इसी कारण सहायता व प्रयास किया जाना चाहिये ताकि क्षेत्र के दोनों महत्वपूर्ण देश एक दूसरे की संभावनाओं से अधिक लाभ उठायें।

पाकिस्तान के संसद सभापति ने भी इस मुलाकात में ईरान द्वारा कश्मीर मामले पर समर्थन के प्रति आभार प्रकट किया और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की हालिया तेहरान यात्रा में ईरान द्वारा उनके स्वागत की सराहना की और कहा कि दोनों देशों की सहकारिता में वृद्धि विशेषकर आर्थिक क्षेत्रों में सहकारिता ईरान और पाकिस्तान के विकास व प्रगति के हित में है।

उन्होंने इसी प्रकार डाक्टर लारीजानी को पाकिस्तान आने का निमंत्रण दिया और कहा कि यह यात्रा दोनों पक्षों के बीच होने वाली सहकारिता के और अधिक होने का कारण बनेगी।

ज्ञात रहे कि ईरान के संसद सभापति डाक्टर अली लारीजानी सर्बिया की राजधानी बेलग्रेड में अंतरसंसदीय IPU की 141वीं बैठक में भाग लेने के लिए रविवार को बेलग्रेड गये हैं। वर्ष 1889 में अंतरसंसदीय यूनियन की स्थापना हुई थी और इस समय 178 देश इसके सदस्य हैं। MM

 

टैग्स

कमेंट्स