Nov २०, २०१९ १८:३६ Asia/Kolkata
  • मुसलमानों की रक्षा में हम सुन्नी या शिया का अंतर नहीं करते, आईआरआईजीसी कमांडर

ईरान की इस्लामी क्रांति फ़ोर्स आईआरआईजीसी के चीफ़ कमांडर जनरल हुसैन सलामी ने कहा है कि तेहरान मुसलमानों की रक्षा में शिया और सुन्नी का अंतर नहीं करता है।

पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल जावेद बाजवा से मुलाक़ात में जनरल सलामी का कहना था कि हम मुसलमानों की रक्षा में इस्लामी जगत के भूगोल को मद्देनज़र रखते हैं और कभी भी शिया और सुन्नी मुसलमानों के बीच अंतर नहीं करते।

जनरल सलामी ने अमरीका और इस्राईल को इस्लामी जगत का दुश्मन बताया और क्षेत्र में तनाव कम करने के लिए पाकिस्तान के प्रयासों की सराहना की।

उन्होंने कहाः मुसलमान एकजुट होकर दुश्मनों की साज़िशों का मुक़ाबला कर सकते हैं और उन्हें पराजित करने की क्षमता रखते हैं।

ग़ौरतलब है कि ईरान एक शिया मुस्लिम बहुल देश है। 1979 में ईरान में इस्लामी क्रांति की सफलता के बाद से ही ईरान ने दुनिया भर के मुसलमानों विशेष रूप से फ़िलिस्तीनी मुसलमों के अधिकारों की रक्षा को अपनी विदेश नीति में प्राथमिकता दी है।

अमरीका और पश्चिमी साम्राज्य की फूट डालो और राज करो की पुरानी नीति के प्रति होशियार करते हुए ईरान ने दुनिया भर के मुसलमानों से हमेशा एकजुट होने की अपील की है।

तेहरान में हुई इस मुलाक़ात में पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल बाजवा का कहना था कि पाकिस्तान और ईरान के बीच धर्म और संस्कृति जैसी अनेक समानताएं पाई जाती हैं। दोनों देशों के बीच संयुक्त सीमा के कारण दोनों देश विभिन्न क्षेत्रों में व्यापक सहयोग बढ़ा सकते हैं। msm

टैग्स

कमेंट्स