Nov २१, २०१९ १६:०० Asia/Kolkata
  • ईरानी आकाश, रेड लाइन... घुसपैठियों को पछताने पर मजबूर कर देंगे, एयर डिफेंस प्रमुख की चेतावनी

इस्लामी गणतंत्र ईरान की सेना में एयर डिफेंस यूनिट के प्रमुख ने कहा है कि ईरान की वायु सीमा, रेड लाइन है ।

 एयर डिफेंस यूनिट के प्रमुख ब्रिगेडियर जनरल अली रज़ा सबाही फर्द ने गुरुवार को " मुदाफेआने आसमाने विलायत 98" युद्धाभ्यास के अवसर पर बताया कि यह युद्धाभ्यास, चार लाख सोलह हज़ार वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र फल में और सेमनान प्रांत में किया जाएगा। 

उन्होंने बताया कि युद्धाभ्यास के पहले चरण में काल्पनिक दुश्मन के ठिकानों की खोज की जाएगी और दूसरे चरण में उन पर हमला किया जाएगा । 

उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के अनुसार  एयर डिफेन्स युनिट बेहद कठिन चरण पार करके बेहद प्रभावशाली तरीके से युद्धाभ्यास करेेगी। 

 एयर डिफेंस यूनिट के प्रमुख ने बताया कि युद्धाभ्यास में इस्लामी गणतंत्र ईरान की सेना, देश में निर्मित हथियारों और डिफेंस सिस्टम का प्रयोग करेगी। 

उन्होंने कहा कि हम एलान करते हैं कि ईरान की वायु सीमा में प्रवेश का, पहले की ही तरह दुश्मन के लिए पछतावे और अपमान के अलावा कोई नतीजा नहीं निकलेगा। 

उन्होंने कहा कि जिस क्षेत्र में युद्धाभ्यास किया जा रहा है उसे फार्स की खाड़ी विशेषकर हुरमुज़ स्ट्रेट की भांति बनाया गया है और हुरमुज़ स्ट्रेट में ईरानी सेना, एयर डिफेन्स के लिए और दुश्मनों की घुसपैठ को रोकने के लिए जो हथियार और सिस्टम प्रयोग करती है वह सब इस युद्धाभ्यास में, सेमनान लाए गये हैं। (Q.A.)

टैग्स

कमेंट्स