Jan २२, २०२० १२:१७ Asia/Kolkata
  • धीरे धीेरे मान रहा है अमरीका, पेंटागन का एलान 11 के अलावा भी कुछ सैनिक घायल हुए थे ईरानी मिसाइल हमले में! 134 सैनिक मरे, ईरानी जनरल का एलान

अमरीकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने काफी देर से लेकिन फिर यह माना है कि ईरान के मिसाइली हमले में उसके सैनिक घायल हुए थे।

वाशिंग्टन पोस्ट के अनुसार अमरीकी सरकार के इस दावे के दो हफ्ते बाद कि ईरान के मिसाइल हमले में कोई भी अमरीकी सैनिक घायल नहीं हुआ है, मंगलवार को पेंटागन ने कई अमरीकी सैनिकों के घायल होने की बात स्वीकार करते हुए कहा है कि यह उन 11 सैनिकों के अलावा हैं जिनके बारे में पहले बताया गया था कि वह एनुल असद छावनी पर ईरान के मिसाइल हमले से प्रभावित हुए थे। 

पेंटागन के अनुसार ईरान के मिसाइल हमले से प्रभावित होने वाले 11 अमरीकी सैनिकों के अलावा भी कई अन्य सैनिक घायल हुए हैं जिन्हें जर्मनी पहुंचाया गया है। 

अमरीकी सेना की " सेंटकाम " आतंकवादी संस्था ने भी बताया है कि यह स्पष्ट हो चुका है कि अधिक संख्या में अमरीकी सैनिक घायल हुए हैं। 

 अमरीका की आतंकवादी सेना ने गत 3 जनवरी को बगदाद हवाई अड्डे पर आईआरजीसी की कुद्स फोर्स के प्रमुख  जनरल क़ासिम सुलैमानी और इराक़ी स्वंय सेवी बल के डिप्टी कमांडर अबू मेहदी अलमुहंदिस को उनके साथियों के साथ शहीद कर दिया था। 

ईरान के क्रांति संरक्षक बल आईआरजीसी ने 8 जनवरी को इस आतंकवादी हमले का जवाब देते हुए इराक़ में अमरीकी की एनुलअसद छावनी  और अरबील में एक अमरीकी ठिकाने पर मिसाइल बरसाए थे। 

ईरान ने कहा था कि इस हमले में लगभग सौ अमरीकी सैनिक मारे गये किंतु अमरीका ने कहा कि इस मिसाइल हमले में उसका कोई सैनिक घायल भी नहीं हुआ । 

कुछ दिनों बाद पेंटागन ने यह स्वीकार किया कि 11 अमरीकी सैनिकों को मिसाइल हमले की वजह से उपचार के लिए इराक़ से कुवैत ले जाया गया है। 

उसके बाद अब मंगलवार को अमरीका ने फिर माना है कि उन 11 के अलावा भी कई सैनिक घायल हुए हैं । 

इसी मध्य आईआरजीसी के वरिष्ठ कमांडर, जनरल मुहम्मद तवल्लाई ने सोमवार को बताया कि इराक़ में स्थित अमरीकी छावनी एनुल असद पर ईरान के मिसाइल हमले में कम से कम 134 अमरीकी सैनिक मारे गये और 245 घायल हुए हैं। 

उन्होंने एक कार्यक्रम में भाषण के दौरान कहा कि हमें प्राप्त सूचनाओं के अनुसार ईरान के मिसाइल हमले में कुल  134 अमरीकी सैनिक मारे गये और 245 घायल हुए हैं और अमरीका बड़े बड़े दावों के बावजूद कुछ नहीं कर पाया।  Q.A.

टैग्स

कमेंट्स