Jan २२, २०२० २०:३३ Asia/Kolkata
  • ईरान के सऊदी अरब के साथ विवाद अमरीका जैसे नहीं हैं, यूरोपियन अपने वचनों के प्रति बचनबद्ध रहेंः वाएज़ी

महमूद वाएज़ी ने कहा है कि अगर यूरोपियन अपने वचनों के प्रति वचनबद्ध रहें तो फिर ईरान भी जेसीपीओए के संबन्ध में अपने वादों को पूरा कर सकता है।

ईरान के राष्ट्रपति कार्यालय के प्रमुख महमूद वाएज़ी ने बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि तेहरान उसी स्थिति में अपने वचनों को पूरा करेगा जब जेसीपीओए में शामिल फोर प्लस वन देश इस संदर्भ में अपने वचनों को पूरा करेंगे।  उन्होंने संयुक्त राष्ट्रसंघ की सुरक्षा परिषद में जेसीपीओए के विषय को ले जाने के बारे में कहा कि अगर अमरीका या जेसीपीओए का कोई सदस्य देश इस समझौते को सुरक्षा परिषद में ले जाता है तो फिर उसे इस्लामी गणतंत्र ईरान के कठोर फैसलों का सामना करना पड़ेगा।

ज्ञात रहे कि अमरीकी प्रतिबंधों की क्षतिपूर्ति पर आधारित यूरोपीय देशों के वादों के पूरा न होने के एक साल के बाद ईरान ने जेसीपीओए को लागू करने की प्रक्रिया को चरणबद्ध ढंग से कम करने का काम शुरू कर दिया।

महमूद वाएज़ी ने कहा कि ईरान और सऊदी अरब आपस में मिलकर अपने मामलों का समाधान करें।  उन्होंने कहा कि सऊदी अरब के साथ ईरान के विवाद, अमरीका के साथ उसके विवाद जैसे नहीं हैं।  वाएज़ी का कहना है कि सऊदी अरब से हमारे संबन्ध अच्छे रह चुके हैं।  

टैग्स

कमेंट्स