Feb १७, २०२० १६:५८ Asia/Kolkata
  • शहीद सुलैमानी और शहीद अबू महदी का बदला लेकर रहेंगेः ईरान व इराक़ का संयुक्त एलान!

इस्लामी गणतंत्र ईरान के एटार्नी जनरल और इराक़ के डिप्टी एटार्नी जनरल ने शहीद क़ासिम सुलैमानी और उनके साथियों की हत्या के मामले पर कार्यवाही के लिए दोनों देशों के मध्य समन्वय पर बल दिया।

जनरल क़ासिम सुलैमानी इराक़ी अधिकारियों के निमंत्रण पर तीन जनवरी को इराक़ की यात्रा पर गए थे लेकिन अमरीकी सेना ने बग़दाद हवाई अड्डे पर एक आतंकी हमले में क़ुद्स फ़ोर्स के कमांडर जनरल क़ासिम सुलैमानी, इराक़ के स्वयं सेवी बल के डिप्टी कमांडर, अबू महदी अलमोहंदिस और अन्य 8 लोगों को शहीद हो गए। इस हमले का आदेश स्वयं अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दिया था।

 

इराक़ के डिप्टी एटार्नी जनरल और उप न्यायमंत्री ज़ारी जाबिर फरहूद ने इस्लामी गणतंत्र ईरान के एटार्नी जनरल मुहम्मद जाफ़र मुन्तज़ेरी से तेहरान में भेंट के दौरान बताया कि जनरल क़ासिम सुलैमानी, अबू महदी अलमोहंदिस और अन्य 8 लोगों की हत्या का केस इराक़ में दाख़िल कर दिया गया है ताकि इसके ज़िम्मेदारों के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्यवाही की जा सके। उन्होंने बल दिया कि इन शहीदों का ख़ून, ईरान व इराक़ के राष्ट्रों के मध्य संबंधों और एकता को अधिक मज़बूत करेगा।

 

इस्लामी गणतंत्र ईरान के एटार्नी जनरल ने भी इस मुलाक़ात में इस बात का वर्णन करते हुए कि ईरान व इराक़ के मध्य अतीत से लेकर अब तक बहुत सी समानताएं हैं, कहा कि ईरान और इराक़ विश्व साम्राज्य और ज़ायोनिज़्म जैसे संयुक्त शत्रु भी रखते हैं। उन्होंने क्षेत्र और इराक़ में अमरीका द्वारा आतंकवादी संगठन दाइश के गठन का उल्लेख करते हुए कहा कि इस्लामी गणतंत्र ईरान ने इराक़ी जनता की रक्षा के लिए बग़दाद सरकार के साथ बहुत अधिक सहयोग किया है। (HN)

टैग्स

कमेंट्स