Feb १८, २०२० १७:५२ Asia/Kolkata
  • अमरीका के सारे अनुमान बिगड़ गये, ईरान के मीज़ाइलों ने वाशिंग्टन को सबक़ सिखा दिया

आईआरजीसी के वरिष्ठ कमान्डर ने कहा है कि इराक़ में एनुल असद अमरीकी सैन्य छावनी पर ईरान के मीज़ाइल हमले ने दुनिया में वाशिंग्टन के अनुमानों और शक्तियों के संतुलन को बिगाड़ के रख दिया।

आईआरजीसी के कमान्डर जनरल हुसैन सलामी ने अलमयादीन टीवी को एक इन्टरव्यू देते हुए कहा कि इराक़ में अमरीका की एनुल असद सैन्य छावनी पर ईरान की मीज़ाइली कार्यवाही पूरी तरह और भरपूर रणनैतिक कार्यवाही नहीं थी बल्कि अमरीकी अपराधों के जवाब की शुरुआत है।

जनरल हुसैन सलामी ने कहा कि अमरीकियों को आदत पड़ चुकी है कि जिस देश पर भी चाहें हमला करें और उन्हें कोई जवाब न दिया जाए किन्तु ईरान का जवाब इस बात का कारण बना कि वाशिंग्टन अपने अनुमानों पर पुनर्विचार करने पर मजबूर हो।

जनरल हुसैन सलामी ने कहा कि एनुल असद अमरीकी छावनी पर ईरान के हमले के अंतर्राष्ट्रीय प्रभावों का उल्लेख करते हुए कहा कि इस्लामी गणतंत्र ईरान ने एक निर्धारित भौगोलिक बिन्दु पर जवाबी कार्यवाही की लेकिन इसका प्रभाव अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हुआ।

आईआरजीसी के कमान्डर ने कहा कि ईरान का रणनैतिक जवाब उस समय पूरा होगा जब अमरीकी सैनिक पश्चिमी एशिया के क्षेत्र से बाहर निकल जाए।

जनरल हुसैन सलामी ने ज़ायोनी शासन को सचेत करते हुए कहा कि इस्राईलियों के क़ब्ज़े वाले समस्त क्षेत्र ईरान के निशाने पर हैं और ज़ायोनी शासन, ईरान की सशस्त्र सेना के मुक़ाबले में अमरीका से भी अधिक तुच्छ और कमज़ोर है। (AK)

कमेंट्स