May २२, २०२० ०८:५२ Asia/Kolkata
  • शहीद होने से ठीक पहले जनरल सुलेमानी ने फ़िलिस्तीनी कमांडर को ख़त भेजकर की थी यह महत्वपूर्ण भविष्यवाणी

अमरीकी ड्रोन हमले में शहीद होने से ठीक पहले फ़िलिस्तीनी प्रतिरोध के एक सीनियर कमांडर के नाम अपने एक ख़त में जनरल क़ासिम सुलेमानी ने निकट भविष्य में इस्राईल के ख़िलाफ़ फ़िलिस्तीनियों की जीत की शुभ सूचना दी थी।

हमास की सैन्य शाख़ा इज्ज़ुद्दीन क़स्साम के कमांडर मोहम्मद दीफ़ के नाम अपने ख़त में आईआरजीसी कमांडर जनरल सुलेमानी ने कहा थाः ईश्वर की कृपा से, जीत का सूर्य उदय होने वाला है, और ज़ालिम ज़ायोनियों के दरवाज़े पर जल्दी ही मौत दस्तक देने वाली है।

यह ख़त जनवरी में जनरल सुलेमानी के शहीद होने के बाद सार्वजनिक किया गया था।

उन्होंने इस ख़त में लिखा थाः फ़िलिस्तीन की रक्षा करना हमारे लिए सम्मान और गौरव की बात है, और यह एक ऐसी ज़िम्मेदारी है, जिसे हम किसी भी क़ीमत पर निभाते रहेंगे।

जनरल सुलेमानी का कहना था कि हर किसी को यह यक़ीन रखना चाहिए कि ईरान फ़िलिस्तीन को कभी अकेला नहीं छोड़ेगा, उसके लिए उसे कितने ही दबाव और प्रतिबंधों का सामना करना पड़े।

आज पवित्र रमज़ान का अंतिम शुक्रवार है, जिसे दुनिया भर के मुसलमान क़ुद्स दिवस के रूप में मनाते हैं और बैतुल मुक़द्दस (यरूशलम) की आज़ादी का वचन लेते हैं। इस अवसर पर लोग आईआरजीसी की क़ुद्स ब्रिगेड के कमांडर जनरल सुलेमानी को भी याद कर रहे हैं, जिन्हें शहीदे क़ुद्स या बैतुल मुक़द्दस की आज़ादी के मार्ग में शहीद होने वाला कहा जाता है।

उन्होंने ईश्वर से दुआ मांगी थी कि उन्हें बैतुल मुक़द्दस की आज़ादी के मार्ग में शहादत नसीब हो।  

फ़िलिस्तीनी कमांडर के नाम अपने ख़त में जनरल सुलेमानी आगे लिखते हैः फ़िलिस्तीन के दोस्त हमारे दोस्त हैं और फ़िलिस्तीन के दुश्मन हमारे दुश्मन हैं। यही हमारी नीति रही है और हमेशा रहेगी।

जनरल सुलेमानी को दुनिया आतंकवाद और उसके जनक इस्राईल तथा अमरीका के ख़िलाफ़ लड़ाई में एक हीरो के रूप में जानती है, जिन्होंने लेबनान, सीरिया और इराक़ में लड़ाई के मोर्चे पर दुश्मन के दांत खट्टे कर दिए थे।

युद्ध के मोर्चे पर दुश्मन जिस ईरानी जनरल का कुछ नहीं बिगाड़ सका, उसने 3 जनवरी को धोखे से बग़दाद एयरपोर्ट के निकट ड्रोन हमले में शहीद कर दिया। msm

टैग्स

कमेंट्स