Jun ०३, २०२० २०:५९ Asia/Kolkata

इस्लामी गणतंत्र ईरान के संस्थापक इमाम खुमैनी की बरसी के अवसर पर वरिष्ठ नेता आतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई ने अपने भाषण में कई महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर प्रकाश डाला है जिनमें एक महत्वपूर्ण बिन्दु ईरान की अर्थ व्यवस्था को तेल से अलग करना है।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई ने लगभग 17 साल पहले देश के अधिकारियों से एक भेंट में कहा था कि " आज इलाक़े के देशों के पास जो तेल है अगर वह युरोपीय देशों के पास होता और वह आप ईरानियों या तेल रखने वाले अन्य देशों को बेचते तो हर गिलास तेल के लिए वह आपकी जान निकाल लेते लेकिन अब वह दसियों लाख बैरल तेल बेहद सस्ते दामों में खरीद रहे हैं और इतना तेल लेकर जो क़ीमत देते हैं वह न देने के बराबर है। "

टैग्स

कमेंट्स