Jul १२, २०२० १९:२७ Asia/Kolkata
  • इस्राईली विमानों और मिसाइलों का शिकार करने के लिए ईरान, सीरिया में कौन सी वायु रक्षा प्रणाली करेगा तैनात?

ईरान और सीरिया के बीच हाल ही में हुए रक्षा समझौते में सीरिया की वायु रक्षा प्रणाली को मज़बूत बनाने का विषय भी शामिल है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, रणनीतिक मामलों के विशेषज्ञ सैय्यद रज़ा सद्र अल-हुसैनी का कहना हैः सीरिया में प्रतिरोधी मोर्चे की रक्षा शक्ति को मज़बूत बनाने के लिए दमिश्क़ के साथ हालिया रक्षा समझौते के तहत, तेहरान ने बावर-373 वायु रक्षा प्रणाली को सीरिया में तैनात करने का फ़ैसला किया है।  

अल-हुसैनी का कहना था कि पिछले एक दशक के दौरान दोनों देशों के बीच रक्षा व सामरिक सहयोग के मद्देनज़र, इस्राईल के हमलों का मुक़ाबला करने के उद्देश्य से ईरान ने सीरिया की वायु रक्षा को मज़बूत करने का इरादा किया है।

दमिश्क़ सरकार ने ईरान के निष्ठावान सहयोग को देखते हुए, तेहरान के सामने अपनी कमज़ोर वायु रक्षा शक्ति का मुद्दा उठाया था, जिसके बाद ईरान ने इस विषय की समीक्षा की और अपनी बावर-373 रक्षा प्रणाली को तैनात करने का फ़ैसला लिया।

ग़ौरतलब है कि ईरान ने पिछले साल अपनी वायु सीमा में घुसने वाले अमरीका के सबसे आधुनिक ड्रोन विमान ग्लोबल हॉक को गिराकर अपनी वायु रक्षा शक्ति का प्रदर्शन किया था।

ईरान की बावर-373 वायु रक्षा प्रणाली एक आधुनिक मिसाइल रक्षा प्रणाली है, जो 65 किलोमीटर की ऊंचाई पर उड़ने वाले लक्ष्य को 300 किलोमीटर की दूरी तक ध्वस्त करने में सक्षम है।

इसके अलावा यह रक्षा प्रणाली एक साथ 100 लक्ष्यों को डिटेक्ट करके 6 को एक साथ उड़ा सकती है। यह रडार में न आने वाले आधुनिक लड़ाकू विमानों से लेकर क्रूज़ मिसाइलों तक का शिकार कर सकती है।

निश्चित रूप से बावर-373 के सीरिया में तैनात होने के बाद, ज़ायोनी शासन को इस देश में अपनी इच्छा अनुसार हवाई हमलों की आज़ादी हासिल नहीं रहेगी। msm

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

टैग्स

कमेंट्स