Jul १४, २०२० २०:५१ Asia/Kolkata
  • ईरान, सीआईए के जासूस को फांसी, देश के साथ विश्वासघात और हम हाथ पर हाथ धरे बैठे रहें, यह नहीं हो सकता

इस्लामी गणतंत्र ईरान ने जासूसों के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए सीआईए के जासूस को फांसी दे दी।

ईरान की न्यायपालिका के प्रवक्ता ने कहा कि पिछले सप्ताह रक्षामंत्रालय के एक सेवानिवृत्त कर्मी रज़ा असकरी को जिसने सीआईए को ईरान की मीज़ाइलों की कुछ सूचना दी थी, फांसी पर लटका दिया गया।

न्यायपालिका के प्रमुख ग़ुलाम हुसैन इस्माईली ने मंगलवार को पत्रकार सम्मेलन में कहा कि पिछले सप्ताह रक्षामंत्रालय के एरोस्पेस विभाग के सेवानिवृत्त कर्मी को फांसी दी गयी। उनका कहना था कि रक्षामंत्रालय का यह कर्मी पांच साल पहले विभाग से रिटार्यड हुआ था और उसके बाद सीआईए के लिए जासूसी करने लगा और उसने देश की मीज़ाइलों के उत्पादन के बारे में उसके पास जितनी जानकारियां थीं कुछ सीआईए को दे दीं और उसके बदले उसे भारी मात्रा में पैसे दिए गये।

न्यायपालिका के प्रवक्ता ने कहा कि देश की ख़ुफ़िया एजेन्सियों ने उसको गिरफ़्तार किया और मुक़द्दमा चलाया गया और न्यायपालिका ने मौत की सज़ा सुनाई थी और जिस पर पिछले सप्ताह अमल कर दिया गया। उनका कहना था कि रज़ा असकरी को भनक ही नहीं लगी कि उस पर नज़र रखी जा रही है और सबूत जमा होने के बाद उसे एजेन्सियों ने धर दबोचा।

उन्होंने पत्रकारों द्वारा इस सवाल के जवाब में कि जनरल क़ासिम सुलैमानी की हत्या में लिप्त जासूस मूसवी मज्द को फांसी दे दी गयी या नहीं? कहा कि फांसी की प्रक्रिया में समय लगता है, ऐसा नहीं होता कि आज फांसी की सज़ा सुनाई गयी और कल दे दी गयी, अभी सज़ा का एलान नहीं हुआ है लेकिन इस सज़ा पर भी अवश्य अमल किया जाएगा।

उनका कहना था कि प्रोपेगैंडों से हमे कोई वास्ता नहीं है लेकिन देश और समाज की सुरक्षा हमारी रेड लाइन है, जो भी उसको ख़तरे में डालेगा, क़ानून के कटघरे में खड़ा किया जाएगा, इस बारे में किसी को माफ़ नहीं किया जाएगा, यह कैसे हो सकता है कि कोई देश के राज़, दूसरों को बेचे और हम हाथ पर हाथ धरे बैठे रहें। (AK)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

टैग्स

कमेंट्स