Aug ०४, २०२० १८:२७ Asia/Kolkata
  • सफलताओं को बदलना, देश के विरुद्ध दुश्मनों के मानसिक युद्ध का केन्द्र है

इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने कहा है कि सरकार की अनुपियोगिता का प्रोपेगंडा, क्षमताओं और देश की बड़ी सफलताओं को फेर बदलकर पेश करना, ईरानी राष्ट्र के विरुद्ध दुश्मनों के मनोवैज्ञानिक युद्ध का मुख्य केन्द्र है।

राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने मंगलवार को सरकार की आर्थिक समन्वय कमेटी के अधिकारियों के साथ बैठक में देश के आर्थिक विकास को रोकने के लिए ईरानी राष्ट्र के पुराने दुश्मनों के लंबे और छोटे लक्ष्यों के बारे में वरिष्ठ नेता की हालिया सिफ़ारिश की ओर संकेत करते हुए कहा कि इस आधार पर देश के आर्थिक इंजन को रोकने के उद्देश्य से एक साथ प्रतिबंध और फेर बदल के दृष्टिकोण को आगे बढ़ाया जा रहा है जिसका मक़सद उपलब्धियों को ख़ाली दिखाना और भविष्य की ओर से निराश करना है।

राष्ट्रपति रूहानी ने देश के आर्थिक प्रबंधन में सरकार के प्रयासों की ओर संकेत करते हुए कहा कि ढाई वर्ष के दौरान अभूतपूर्व दबावों और पूर्ण युद्ध की अवधि में सरकार तेल की आय पर निर्भरता को बहुत हद तक कम करने में सफल रही है और प्रतिदिन के इस्तेमाल की वस्तुओं की आपूर्ति में भी अग्रणी रही। उनका कहना था कि सरकार के प्रयासों की वजह से ग़ैर पेट्रोलियम पदार्थों का उत्पादन जारी है, उत्पादनों का क्रम जारी है और बेरोज़गारी में कमी हुई है। (AK)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

टैग्स

कमेंट्स