Aug २१, २०२० १३:१९ Asia/Kolkata
  • कर्बला से मिलने वाली विचारधारा के अनुसार मानवता के दुशमनों के ख़िलाफ़ हमने मोर्चा खोलाः ईरानी संसद सभापति

ईरान के संसद सभापति मुहम्मद बाक़िर क़ालीबाफ़ ने कहा कि आशूर से मिलने वाली विचारधारा के आधार पर हम क्रांति लाए और इमाम हुसैन के मार्ग पर चलते हुए हम इंसानियत के सबसे बड़े दुशमनों के मुक़ाबले में खड़े हैं।

डाक्टर क़ालीबाफ़ ने मुहर्रम के आगमन के अवसर पर सोशल मीडिया पर जारी किए गए अपने संदेश में लिखा कि मुहर्रम के आगमन के अवसर पर इमाम हुसैन के आशिकों के दिल पैग़म्बरे इस्लाम के ख़ानदान पर पड़ने वाली मुसीबातों का ग़म मनाने के लिए बेचैन हैं। आशूर का चमत्कार सत्य और असत्य के फ़र्क़ को स्पष्ट करने वाला पैमाना है और साथ ही दुनिया के कमज़ोरों और पीड़ितों को यह शुभसूचना देता है कि विजय उनका मुक़द्दर है।

ईरानी संसद सभापति ने लिखा कि हम इमाम हुसैन के मार्ग पर हमेशा चलते रहेंगे क्योंकि हमारा देश हुसैनी देश है। उन्होंने आगे लिखा कि हम स्वास्थ्य विशेषज्ञों की गाइडलाइनों का पूरी तरह पालन करते हुए इमाम हुसैन का ग़म मनाएंगे।

टैग्स