Sep १८, २०२० १९:२२ Asia/Kolkata
  • ईरान का बड़ा बयान, फ़िलिस्तीनी जनता को शामिल किए बिना क्षेत्र में शांति की स्थापना असंभव है

ईरान के संसद सभापति मुहम्मद बाक़िर क़ालीबाफ़ ने कहा है कि फ़िलिस्तीनी जनता को शामिल किए बिना क्षेत्र में शांति का स्थापना का कोई रास्ता नहीं है।

ईरान की संसद मजलिसे शूराए इस्लामी के स्पीकर ने इस्राईल के साथ कुछ अरब देशों के संबंधों की स्थापना का उल्लेख करते हुए कहा कि फ़िलिस्तीनी कॉज़ प्रशासन के विरोधी ज़ायोनियों के समस्त अपराधों में सहभागी हैं।

संसद सभापति मुहम्मद क़ालीबाफ़ ने कहा कि फ़िलिस्तीनी कॉज़ के ग़द्दार बेताबी के साथ अत्याचारियों के हाथ चूम रहे हैं और मज़लूमों के चेहरे को नोच रहे हैं।  

संयुक्त अरब इमारात और ज़ायोनी शासन के संबंधों की स्थापना को अभी एक महीना भी पूरा नहीं हुआ था कि अरब-इस्राईल दोस्ती योजना के प्रवक्ता अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने 11 सितम्बर को बहरैन और ज़ायोनी शासन के बीच संबंधों की स्थापना की सूचना दी थी। (AK)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स

कमेंट्स