Sep २६, २०२० १९:०७ Asia/Kolkata
  • ईरान की शत्रुतापूर्ण नीतियों के कारण बहुत से अरब देशों ने इस्राईल के बारे में अपनी सोच बदली, तुर्की ढोंग कर रहा हैः इमारात

अरब इमारात के विदेशी मामलों के राज्य मंत्री अनवर क़रक़ाश ने कहा कि ईरान की शत्रुतापूर्ण नीतियों के कारण बहुत से अरब देश इस्राईल के क़रीब चले गए।

इस्राईल से शांति समझौता करने वाले इमारात के मंत्री ने दावा किया कि इमारात को इस्राईल से शांति समझौता करने की कोई ज़रूरत नहीं थी लेकिन तेहरान ने पिछले तीन दशकों में जिस प्रकार की नीतियां अपनाई हैं उसकी वजह से बहुत से अरब देशों में ख़ौफ़ पैदा हुआ और उन्होंने इस्राईल से अपने रिश्तों पर नए सिरे से सोचना शुरू कर दिया।

इस्राईल से शांति समझौता करने के कारण इमारात और बहरैन की बहुत आलोचना हो रही है जबकि इस्राईल के भीतर नेतनयाहू सरकार की यह कहकर आलोचना की जा रही है कि नेतनयाहू सरकार ने जिन देशों से शांति समझौता किया है उनसे तो इस्राईल की पहले से ही दोस्ती थी।

क़रक़ाश ने कहा कि इमारात की सरकार इस नतीजे पर पहुंची कि इस्राईल से रिश्ते सामान्य कर लेने की स्थिति में उसे स्ट्रैटेजिक फ़ायदे मिलेंगे जबकि इस समझौते के नतीजे में इमारात को अपना कोई भी मित्र देश गवांना भी नहीं पड़ा।

क़रक़ाश ने कहा कि इस्राईल के साथ इमारात और बहरैन के शांति समझौते पर ईरान और तुर्की की प्रतिक्रिया चिंताजनक है। उन्होंने तुर्की के बारे में कहा कि वह ढोंग कर रहा है। उन्होंने इस्राईल से कहा कि वह इस अवसर का  लाभ उठाए और अपने लिए दूसरे भी दरवाज़े खोले।

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स

कमेंट्स