Sep २६, २०२० २०:१७ Asia/Kolkata
  • अमरीकी प्रतिबंधों से पिछले दो साल में ईरान को 150 बिलियन डॉलर का नुक़सान हुआ है, रूहानी

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि ट्रम्प प्रशासन ने तेहरान के ख़िलाफ़ ग़ैर क़ानूनी प्रतिबंध लगाकर देश की अर्थव्यवस्था को 150 बिलियन डॉलर का नुक़सान पहुंचाया है।

शनिवार को राष्ट्रपति रूहानी ने कहा कि 2018 में अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने परमाणु समझौते से निकलने के बाद, ईरान पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए और दो साल के दौरान, 150 बिलियन डॉलर का नुक़सान पहुंचाया।

टीवी पर प्रसारित होने वाले अपने भाषण में रूहानी का कहना था कि अमरीका, दवाईयों और खाद्य पदार्थों के आयात के मार्ग में भी रुकावटें उत्पन्न कर रहा है।

उन्होंने कहा कि अगर लोग देश में समस्याओं और ज़रूरी वस्तुओं के लिए किसी को बुरा भला कहना चाहते हैं तो वह व्हाइट हाउस है।

ईरानी राष्ट्रपति का कहना था कि तेहरान ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से 5 अरब डॉलर के लोन का आग्रह किया था, ताकि चिकित्सा उपकरणों और दवाईयों का निर्यात किया जा सके, लेकिन अमरीका ने उसमें भी रुकावटें डालना शुरू कर दीं।

उन्होंने कहा कि अमरीकी विदेश मंत्री वास्तव में अपराध मंत्री हैं और ईरानी राष्ट्र से दुश्मनी पर वह गर्व करते हैं।    

राष्ट्रपति रूहानी का कहना था कि ईरानी जनता की समस्याओं का प्रमुख स्रोत ज़ायोनी शासन और क्षेत्र की कट्टरपंथी सरकारें हैं, जो अमरीका के नेतृत्व में ईरानी जनता पर अत्याचार कर रहे हैं। msm

टैग्स

कमेंट्स