Sep २९, २०२० २३:०४ Asia/Kolkata
  • ईरान ने पेट्रोल की एक और खेप वेनेज़ुएला भेजी, अमरीका देखता रहा गया!

अमरीका के भारी दबाव के बावजूद ईरान की ओर से भेजी गई पेट्रोल की एक और खेप वेनेज़ुएला पहुंच गई है।

"फ़ाॅरेस्ट" नामक आयल टैंकर उन तीन तेल टैंकरों में से एक है जो दूसरी बार पेट्रोल लेकर वेनेज़ुएला रवाना हुए हैं और इस समय दक्षिणी अमरीका के इस देश की जल सीमा में पहुंच गए हैं। फ़ाॅरेस्ट वेनेज़ुएला के तट पर लंगर डाल चुका है और दूसरे दो तेल टैंकर भी जल्द भी वेनेज़ुएला पहुंच जाएंगे। हालिया महीनों में वेनेज़ुएला में ईंधन की भारी कमी हो गई है और इसकी वजह अमरीका की ओर से लगाए गए प्रतिबंध हैं।

 

अमरीका की धमकियों के बावजूद ईरान ने, जो वेनेज़ुएला का घटक है, इससे पहले पांच तेल टैंकर वेनेज़ुएला भेजे थे जिसकी वजह से इस देश में ईंधन का संकट बड़ी हद तक कम हो गया था। अमरीकी अधिकारियों ने धमकी दी है कि वे ईरान के तेल टैंकरों को रोक देंगे लेकिन इसके बावजूद ईरान ने अपने तीन तेल टैंकरों को वेनेज़ुएला रवाना कर दिया और वे पूरी सुरक्षा के साथ वेनेज़ुएला की जल सीमा में पहुंच गए हैं। यह बात अमरीका के लिए एक बड़ी पराजय है। अमरीका के दबाव के बावजूद ईरान और वेनेज़ुएला का सहयोग हालिया महीनों में पहले से ज़्यादा मज़बूत हुआ है और दोनों देश इस बात की कोशिश कर रहे हैं कि आपसी संभावनाओं के माध्यम से समस्याओं को दूर कर दें। 

 

वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने ट्वीट किया है कि वेनेज़ुएला और ईरान को अपने भविष्य निर्धारण और शांति का हक़ हासिल है। उन्होंने इससे पहले भी इस्लामी गणतंत्र ईरान की ओर से वेनेज़ुएला की सरकार और जनता के समर्थन का आभार प्रकट किया था और कहा था कि वेनेज़ुएला अकेला नहीं है और उसके कुछ बहादुर दोस्त हैं जो उसके साथ खड़े हैं।

 

ईरान व वेनेज़ुएला के बीच तेल के मैदान में आपसी सहयोग की मज़बूती के कारण ट्रम्प सरकार तिलमिलाई हुई है और धमकियों पर धमकी दे रही है। अमरीकी अधिकारियों ने कहा है कि वे ईरान व वेनेज़ुएला के व्यापारिक संबंधों को ख़त्म करने के लिए लगभग 50 तेल टैंकरों पर प्रतिबंध लगाने की एक योजना तैयार कर रहे हैं। अमरीका की धमकियों के बावजूद ईरान के तेल टैंकरों का दूसरी बार वेनेज़ुएला की जल सीमा में पहुंचना, ईरान की शक्ति का परिचायक है और साथ ही इससे अमरीका के प्रतिबंधों को विफल बनाने के दोनों देशों के संकल्प का भी पता चलता है। ऐसा लगता है कि न केवल ईरान और वेनेज़ुएला बल्कि संसार के बहुत से अन्य देश भी अब अमरीका की धमकियों को स्वीकार नहीं कर रहे हैं और प्रतिबंधों की नीति में उसका साथ देने के लिए तैयार नहीं हैं। (HN)

 

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स

कमेंट्स