Oct १६, २०२० १८:२० Asia/Kolkata
  • ईरान में आज मनाया जा रहा है पैग़म्बरे इस्लाम (स) के स्वर्गवास और इमाम हसन की शहादत का शोक

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने आज शुक्रवार को पैग़म्बरे इ्स्लाम (स) के स्वर्गवास और इमाम हसन की शहादत के संबन्ध में आयोजित शोक सभा में भाग लिया।

पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा (स) के स्वर्गवास और उनके नवासे इमाम हसन अलैहिस्सलाम की शहादत के अवसर पर आज ईरान में शोक सभाएं आयोजित की जा रही हैं।  इन शोक सभाओं में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए भाग ले रहे हैं।

राजधानी तेहरान में स्थित इमाम ख़ुमैनी इमामबाड़े में आयोजित एक शोकसभा में इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामेनेई ने भाग लिया।  शोकसभा को संबोधित करते हुए हुज्जतुल इस्लाम हामिद काशानी ने पैग़म्बरे इस्लाम के सदाचरण पर प्रकाश डाला।  उन्होंने कहा कि शत्रु का मुक़ाबले हमे पूरी दृढ़ता के साथ करना चाहिए।  हामिद काशानी का कहना था कि इतिहास साक्षी है कि जहां भी मुसलमानों ने ईश्वर पर भरोसे को छोड़कर भौतिक संभावनाओं पर भरोसा किया वहीं पर उनको विफलता देखनी पड़ी।  ज्ञात रहे कि प्रतिवर्ष 28 सफर को शिया मुसलमान, पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा (स) के स्वर्गवास और उनके नवासे इमाम हसन अलैहिस्सलाम की शहादत के अवसर पर शोक सभाओं का आयोजन करते हैं। 

टैग्स

कमेंट्स