Oct २१, २०२० १३:५७ Asia/Kolkata
  • ईरान में 8 टन सोने के भंडार वाली एक नई खदान की हुई खोज

ईरान के दक्षिण-पूर्वी प्रांत सीस्तान और बलूचिस्तान में सोने की एक नई खान की खोज की हुई है, इस खान में 8 टन सोने का भंडार है।

सीस्तान और बलूचिस्तान प्रांत की अंडर सेक्रेटरी मंदना ज़ंगनेह का कहना है कि खोजी गई सोने की खदान देश की उन आर्थिक खानों में से एक है, जिनकी हाल ही में पहचान की गई है।

लंबे समय के सर्वेक्षण के बाद, खदान की खोज के लिए लाइसेंस जारी किया गया था, जिसमें निश्चित रूप से 8 टन सोना मौजूद है।

तस्नीम न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक़, बुधवार को निवेशकों को आमंत्रित करने के लिए नोटिस जारी किया जाएगा, ताकि इस क्षेत्र की क्षमताओं का उपयोग क्षेत्र की आर्थिक समृद्धि और नौकरियों के सृजन के लिए किया जा सके।

ज़ंगनेह ने सीस्तान और बलूचिस्तान को खदानों की रेनबो (इन्द्र धनुष) बताया है, जहां सोने, तांबे और टाइटेनियम का बड़ा ज़ख़ीरा मौजूद है।

उनका कहना था कि तांबे की खदान में 40 करोड़ टन तांबा होने का अनुमान है, लेकिन सर्वेषण पूरा होने के बाद, इस मात्रा में काफ़ी इज़ाफ़ा हो सकता है।

ईरान की बड़ी कंपनियों ने प्रांत की खदानों में निवेश के लिए तत्परता दिखाई है।

सीस्तान और बलूचिस्तान टाइटेनियम खदान का केन्द्र है, जहां 4.2 बिलियन डॉलर से अधिक के निवेश की ज़रूरत है।

पिछले महीने ईरानी अधिकारियों ने देश के 21 प्रांतों में ऐसे इलाक़ों की पहचान करने का एलान किया था, जहां बड़ी मात्रा में सोने की खानें मौजूद हैं। एक अनुमान के मुताबिक़, देश की 24 खानों में 340 मैट्रिक टन सोना मौजूद है।

तेहरान का कहना है कि अमरीकी प्रतिबंधों का प्रभाव कम करने के लिए देश में मौजूद सोने और इस्पात की अपार संभावनाओं से लाभ उठाने का फ़ैसला लिया गया है।

ईरान, दुनिया में इस्पात के बड़े निर्यातकों में से एक है, और अमरीकी प्रतिबंधों के बावजूद, दूसरे देशों को इस्पात का निर्यात कर रहा है। योजना के अनुसार, 2025 तक ईरान के इस्ताप का उत्पादन बढ़कर 5 करोड़ 50 लाख टन प्रति वर्ष हो जाएगा, जिसमें से क़रीब 50 प्रतिशत इस्पात का निर्यात किया जा सकेगा।

उद्योग एवं व्यापार मंत्रालय के अधिकारी दारयूश इस्माईली का कहना है कि सोने के क्षेत्र में ईरान के पास हज़ारों संभावनाएं हैं और जल्द ही देश की अर्थव्यवस्था में इस्पात की तरह सोना भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा।

उनका कहना था कि जल्द ही सोने के उत्पादन की प्रक्रिया में एक बड़ा बदलाव होने जा रहा है, जिससे इस क्षेत्र में क्रांति आ सकती है।

तकब में ज़रशूरान गोल्ड कॉम्पलैक्स सबसे महत्वपूर्ण खदानों में से एक है। एक अनुमान के मुताबिक़, यहां 110 टन सोने का भंडार मौजूद है। msm

टैग्स

कमेंट्स