Oct २३, २०२० १०:४४ Asia/Kolkata
  • ईरान व तुर्की के राष्ट्रपतियों की टेलीफोनी वार्ता, अमरीकी प्रतिबंधों के मुकाबले ईरान का साथ देंगे, तुर्की का एलान

ईरान और तुर्की के राष्ट्रपतियों ने टेलीफोनी वार्ता में परस्पर संबंधों में विस्तार पर बल दिया है।

राष्ट्रपति हसन रूहानी ने गुरुवार की शाम अपने तुर्क समकक्ष रजब तैयब अर्दोगान से टेलीफोनी वार्ता में दोनों देशों के संबंधों को अन्य सभी पड़ो़सी देशों के लिए आदर्श बताया और ईरान व तुर्की के बीच होने वाले समझौतों विशेषकर आर्थिक व बैंकिंग क्षेत्र से संबंधित समझौतों को यथाशीघ्र लागू किये जाने की आवश्यकता पर बल दिया। राष्ट्रपति रूहानी ने इसी तरह इलाक़े में आतंकवाद के खिलाफ युद्ध को एक महत्वपू्र्ण विषय बताया और कहा कि आतंकवादी गुट, पूरे इलाक़े के लिए बहुत बड़ा खतरा बन सकते हैंं 

राष्ट्रपति रूहानी ने इस टेलीफोनी वार्ता में ज़ोर दिया है कि कराबाख संकट का समाधान, वार्ता द्वारा किया जाना चाहिए और युद्ध किसी भी तरह से किसी समस्या का समाधान नहीं हो सकता। इसके साथ ही उन्होंने सीमावर्ती क्षेत्रों में ईरानी नागरिकों की सुरक्षा पर ज़ोर दिया । 

राष्ट्रपति रूहानी ने कहा कि इलाक़े के दो मज़बूत देश होने के नाते ईरान और तुर्की और इसी तरह रूस, इलाक़े में शांति व स्थिरता की स्थापना में सहयोग कर सकते हैं सीरिया संकट के समाधान के लिए इन तीनों देशों का सहयोग जारी रहना बेहद ज़रूरी है। 

इस टेलीफोनी वार्ता में तुर्की के राष्ट्रपति ने भी ईरान को तुर्की का बेहतरीन दोस्त और पड़ोसी बताया और कहा कि तुर्की, अमरीकी प्रतिबंधों के मुक़ाबले में ईरान का समर्थन जारी रखेगा और अतीत की तरह व्यापार और आर्थिक संबंधों में विस्तार की पूरी कोशिश करेगा। 

रजब तैयब अर्दोगान ने इसी तरह आतंकवाद के खिलाफ युद्ध में ईरान के सहयोग को इलाक़े की शांति में महत्वपूर्व बताया और इस सहयोग के जारी रहने पर बल दिया। 

तुर्की के राष्ट्रपति ने इसी प्रकार आशा प्रकट की है कि क़राबाख़ के बारे में ईरान और तुर्की के मध्य सहयोग, इस संकट के वार्ता द्वारा समाधान और क्षेत्र में शांति स्थापना का कारण बनेगा। Q.A.

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स

कमेंट्स