Oct २४, २०२० १५:०२ Asia/Kolkata
  • पैग़म्बरे इस्लाम व इस्लामी मान्यताओं का अनादर बर्दाश्त नहीं किया जाएगाः फ़्रान्स को ईरान की चेतावनी

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम के अनादर पर आधारित फ़्रान्सीसी अधिकारियों के तर्कहीन रुख़ को नफ़रत फैलने का कारण बताया है।

फ़्रान्स के राष्ट्रपति अमानोएल मैक्रां ने हाल ही में एक अत्यंत ढिठाई भरे बयान में कहा था कि फ़्रान्स, पैग़म्बरे इस्लाम के अपमानजनक कार्टून प्रकाशित करना जारी रखेगा। ईरानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सईद ख़तीबज़ादे ने शनिवार को फ़्रान्स में पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम के ख़िलाफ़ अपमानजनक क़दम जारी रहने की हठधर्मी की निंदा करते हुए कहा कि बड़े खेद की बात है कि कुछ वरिष्ठ अधिकारी भी इस तरह के क़दमों का समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस्लामी मान्यताओं और मुसलमानों की आस्थाओं के अपमान को सहन नहीं किया जाएगा।

 

प्रवक्ता ने कहा कि निश्चित रूप से कुछ चरमपंथियों की ओर से उठाए गए हिंसक व अस्वीकार्य क़दमों से दुनिया के एक अरब 80 करोड़ मुसलमानों की आस्थाओं और पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम के अपमान का औचित्य नहीं दर्शाया जा सकता। ख़तीबज़ादे ने कहा कि इस्लामी जगत के यह मुट्ठी भर चरमपंथी एक विशेष विचारधारा से संबंधित हैं और संयोग से वे पश्चिम व अमरीका के बेहद क़रीब हैं और उनके कामों को पूरे इस्लामी जगत से जोड़ कर नहीं देखा जा सकता। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि फ़्रान्स के अधिकारियों का तर्कहीन रुख़, इस हिंसा व चरमपंथ के मुक़ाबले में किसी भी तरह से उचित व युक्तिपूर्ण नहीं कहा जा सकता। (HN)

 

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स

कमेंट्स