Oct २७, २०२० १२:१५ Asia/Kolkata
  • अमरीका ने 220 साल युद्ध में गुज़ारा, दुनिया को तबाही से बचाए संराः जवाद ज़रीफ़

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र संघ से अमरीका की एकक्षपीय और युद्धोन्मादी नीतियों का मुक़ाबला करने की मांग की है।

विदेशमंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने कल संयुक्त राष्ट्र संघ के गठन की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर कहा कि 75 साल पहले संयुक्त राष्ट्र संघ का गठन दो भयानक युद्धों के बाद अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा की बहाली के लिए हुआ था किन्तु अभी हमें देखना है कि हम इस अभियान में किस हद तक सफल रहे हैं?

विदेशमंत्री ने कहा कि एक नये शोध के अनुसार 2001 के बाद से अमरीका  के निरंतर युद्ध के परिणाम में 3 करोड़ 70 लाख लोग बेघर हुए हैं। उनका कहना था कि 2001 में अमरीका ने 8 युद्ध शुरु किए या उसमें शामिल रहा जिसको आतंकवाद के विरद्ध युद्ध का नाम दिया गया।

विदेशमंत्री ने कहा कि इन युद्धों के परिणाम में हज़ारों बेगुनाह लोगों की जानें गयीं, लाखों घर बर्बाद हुए और साथ ही सरकार की विफलताएं और कट्टरपंथ में वृद्धि हुई।

विदेशमंत्री ने कहा कि आज हमें ख़ुद से पूछना चाहिए कि हमारी दुनिया 1945 की तुलना में अधिक सुरक्षित या या कम सुरक्षित है?  उनका कहना था कि हम कैसे एक ऐसे ग़ुंडे और उसकी ओर से अंतर्राष्ट्रीय नियमों का अपमान सहन करते रहेंगे जो केवल घमंड से बोलता है और शक्ति के दुरुपयोग का आदी है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री ने कहा कि हम उस पर कैसे नियंत्रण कर सकते हैं जिसने अपने 244 वर्षीय इतिहास में 220 साल युद्ध में व्यतीत किया और केवल 1945 के बाद से अपनी इच्छाओं को न मानने वालों के विरुद्ध 39 सैन्य युद्ध और 120 आर्थिक युद्ध छेड़ा है।

श्री जवाद ज़रीफ़ ने कहा कि वास्तव में कोई युद्ध जीतने वाला नहीं है अब समय बदल गया है, दुनिया को और अधिक तबाही से बचाएं। (AK)

 

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स

कमेंट्स