Nov २३, २०२० १४:३६ Asia/Kolkata
  • ईरानी विमान वाहक युद्धपोत पर इस्राईली और अमरीकी सैन्य विशेषज्ञों की माथा-पच्ची, बताया तैरता हुआ हथियारों का बाज़ार

तेहरान और वाशिंगटन के बीच तनाव के दौरान, ईरान की इस्लामी क्रांति फ़ोर्स आईआरजीसी ने जबसे बहुउद्देश्यीय विमान वाहक युद्धपोत शहीद रूदकी को अपने नौसैनिक बेड़े में शामिल किया है, अमरीकी और इस्राईली सैन्य विशेषज्ञ हर रोज़ इसकी ताक़त और मारक क्षमता को लेकर माथा-पच्ची कर रहे हैं।

इस्राईली अख़बार यरूशलेम पोस्ट ने ऐसी ही एक रिपोर्ट में ईरान के पहले विमान वाहक युद्धपोत का विश्लेषण किया है और कहा है कि इस युद्धपोत ने सैन्य विशेषज्ञों को इतना अधिक हैरत में डाल दिया है कि यूनाइटेड स्टेट्स मैरीटाइम इंस्टीट्यूट ने इस पर एक विस्तृत रिपोर्ट प्रकाशित की है।

इस्राईली अख़बार का कहना है कि देखने में तो यह सिर्फ़ एक परिवहन जहाज़ है, लेकिन यह विभिन्न प्रकार के हथियारों से लैस है और उसके डेक पर इन हथियारों को देखा जा सकता है। इससे पता चलता है कि इस युद्धपोत की क्या क्षमताएं हैं।

रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि हवाई चित्रों और प्राप्त विवरणों के मुताबिक़, युद्धपोत कई मिसाइल लांचरों से लैस है, जिन्हें स्पीडबोट्स पर लगाया गया है। इसी प्रकार, शहीद रूदकी युद्धपोत, वायु रक्षा प्रणाली ख़ोर्दाद-3, लड़ाकू हेलिकॉप्टरों और ऐंटी शिप मिसाइलों से लैस है। इसलिए इस जहाज़ को पानी पर तैरता हुआ शस्त्रागार या हथियारों का बाज़ार कहना बेहतर होगा।

यरूशलेम पोस्ट ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि अमरीकी नौसेना की ताक़त बहुत ज़्यादा है, लेकिन ईरान की बढ़ती नौसैनिक शक्ति और नया युद्धपोत, वाशिंगटन के लिए गंभीर ख़तरा बन सकती है।    

492 फ़ीट लंबा और 72 फ़ीट चौड़ा यह युद्धपोत, 23 एमएम की एंटी-एयरक्राफ्ट मशीन गनों से भी लैस है। 6 अबाबील ड्रोन विमान को कि जो ईरान के यूएवी बेड़े के विकास कार्यक्रम का हिस्सा हैं, डेक पर देखा जा सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक़, जहाज़ के अपेक्षाकृत बड़े डेक पर संभवतः अन्य हथियारों और सैन्य प्रणालियों को लगाया जा सकता है, जैसे कि फ़िक्स या रोड-मोबाइल क्रूज़, बैलिस्टिक मिसाइल लांचर या बड़ा कैलिबर रॉकेट तोपख़ाना। इसी प्रकार, सतह से हवा में मार करने वाली मोबाइल मिसाइल प्रणाली और उनसे जुड़े रडार भी जहाज़ पर फ़िट हो सकते हैं। msm

टैग्स