Nov ३०, २०२० १९:०२ Asia/Kolkata
  • ईरानी वैज्ञानिक फ़ख़्रीज़ादे की हत्या में इस्राईल और एमकेओ का हाथ होने का पर्दाफ़ाश

इस्लामी गणतंत्र ईरान के वरिष्ठ वैज्ञानिक की हत्या में ज़ायोनी शासन और आतंकवादी गुट एमकेओ के लिप्ल होने का पर्दाफ़ाश हुआ है।

ईरान प्रेस के मुताबिक़, वैज्ञानिक मोहसिन फ़ख़्रीज़ादे की हत्या में रिमोट कंट्रोल से लैस मशीन गन का इस्तेमाल हुआ जो निस्सान गाड़ी पर लगी हुयी थी।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक़, इस मशीन गन की दुर्बीन में जैसे ही फ़ख़्रीज़ादे की तस्वीर आयी, मशीन गन से ऑटोमेटिक फ़ायरिंग शुरू हुयी। इस मशीन गन में इस्राईल निर्मित रिमोट कंट्रोल की विशेष किट लगी हुयी थी।

प्राप्त जानकारी से साफ़ हो गया है कि निस्सान गाड़ी को दो लक्ष्य के लिए चुना गया। एक फ़ख़्रीज़ादे की टीम को नुक़सान पहुंचाने और दूसरे रिमोट कंट्रोल को तबाह करने के लिए था ताकि सुबूत पूरी तरह मिट जाएं।

ईरानी वैज्ञानिक की हत्या के ब्योरे से, इस हत्या में इस्राईल के गुप्तचर संगठन मोसाद और एमकेओ का हाथ होने की पुष्टि होती है। मोहसिन फ़ख़्रीज़ादे की हत्या में आतंकियों द्वारा इस्तेमाल हुए हथियार के बचे खुचे टुकड़े से साफ़ हो गया है कि ये हथियार इस्राईल का था क्योंकि उस पर मेड इन इस्राईल उकेर कर लिखा हुआ है।(MAQ/N)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

 

 

टैग्स