Dec ०२, २०२० ११:३५ Asia/Kolkata
  • आईएईए के कुछ निरीक्षक, ईरानी वैज्ञानिकों का ब्योरा सीआईए को देते रहे हैं! कई को गिरफ्तार भी किया गया

ईरानी संसद की मुख्य समिति के सदस्य ने कहा है कि परमाणु ऊर्जा की अंतरराष्ट्रीय एजेन्सी के अधिकतर निरीक्षक, जासूस थे और ईरानी वैज्ञानिकों के बारे में जानकारियां, अमरीकी खुफिया एजेन्सी सीआईए को देते थे।

अहमद अमीर आबादी फराहानी ने ईरान प्रेस के साथ एक इन्टरव्यू में कहा कि आईएईए के महानिदेशक का यह बयान स्वीकारीय नहीं है कि ईरान सहित कोई भी देश निरीक्षणों को सीमित करके फायदे में नहीं रहा है। 

उन्होंने कहा कि ईरान ने स्वेच्छा से पूरक प्रोटोकोल को लागू किया है और इस बारे में सहयोग किया है लेकिन परमाणु ऊर्जा की अंतरराष्ट्रीय एजेन्सी के अधिकांश निरीक्षक, सीआई के जासूस हैं और कई जासूस, आईएईए के नाम पर ईरान में आए और उन्हें गिरफ्तार भी किया गया। 

उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि आईएईए के निरीक्षकों के रूप में ईरान में जासूसी का यह सिलसिला बंद किया जाए। 

ईरानी संसद की ओर से आईएईए के निरीक्षकों को देश से निकालने की मांग पर इस संस्था के महानिदेशक राफाइल ग्रोसी ने बयान दिया था कि ईरान और आईएईए के सहयोग में बाधा डालने से किसी को लाभ नहीं होगा। 

याद  रहे ईरान की संसद ने एक बिल पास करके ईरान की सरकार को बाध्य किया है कि अगर ईरान के बारे में परमाणु समझौते के अन्य पक्षों ने अपने वचनों का पालन नहीं किया, बैंकिंग संपर्क सामान्य नहीं हुआ, निर्यात और तेल निर्यात की राह की बाधाएं दूर नहीं की गयीं तथा निर्यात से मिलने वाली आमदनी को देश नहीं लाया गया तो वह एक कानून के पारित होने के एक महीने के बाद, पूरक प्रोटोकोल का पालन बंद कर दे। Q.A. 

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए  

 

टैग्स