Jan १८, २०२१ १०:२७ Asia/Kolkata
  • क्षेत्र में अब भी अमरीका के बमवर्षक विमान उड़ रहे हैं, ईरान को डराना मक़सद है या धमकी, जाते जाते क्या करना चाहते हैं ट्रम्प

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने फ़ार्स की खाड़ी के क्षेत्र में अमरीका के  B-52 बमवर्षक विमानों की उड़ानों पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

विदेशमंत्री ने अमरीकी राष्ट्रपति को संबोधित करते हुए ट्वीट किया कि अगर B-52H बमवर्षक विमानों की उड़ानों का मक़सद ईरान को डराना या धमकाना है तो आपको इन अरबों डॉलर्स को अपने करदाताओं पर ख़र्च करना चाहिए था।

विदेशमंत्री ने ट्वीट किया कि हमने 200 साल से अधिक समय से कोई जंग शुरु नहीं की लेकिन हमलावरों को करारा जवाब देने में हमें कोई संकोच नहीं है, इसके लिए आपको अपने उन पक्के दोस्तों से पूछना चाहिए जिन्होंने सद्दाम का समर्थन किया था।

फ़ार्स न्यूज़ एजेन्सी की रिपोर्ट में बताया गया है कि अमरीका के B-52 बमवर्षक विमानों ने पश्चिमी एशिया के क्षेत्र में हालिया सप्ताह के दौरान दूसरी बार गश्त शुरु कर दी है।

अमरीका की सेन्ट्रल कमान्ड ने भी अपने संदेश में कहा कि मध्यपूर्व में जेट B-52 की गश्त सफल रही जो पिछले 17 दिनों में दूसरी बार अंजाम पायी है।

अमरीकी सेन्ट्रल कमान्ड ने दावा किया कि रविवार को अंजाम पाने वाली इस गश्त का मक़सद, क्षेत्र की सुरक्षा पर अमरीकी प्रतिबद्धता का मापदंड समझा जाता है।

आतंकवादी अमरीकी सेन्ट्रल कमान्ड के कमान्डर फ़्रैंक मैकेन्ज़ी ने भी अपने एक बयान मे कहा कि इन उड़ानों से पता चलता है कि अमरीका क्षेत्र में पूरी तरह से तैयार है। मैकेन्ज़ी के बयान में इस बारे में ईरान की ओर कोई इशारा नहीं किया गया है। (AK)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स