Jan १८, २०२१ २०:०० Asia/Kolkata

हमने शहीद और शहीदों मे बारे में बहुत कुछ कहा और लिखा है। हमने युद्ध के दौरान की बातों और आज़ादी एवं अहलेबैत की विचारधारा की सुरक्षा के बारे में भी लिखा है। लेकिन इस बार हमारी कहानी कुछ अलग है। (मशहद के दो शहीद भाइयों की मां की कहानी। यह एक अजीब मां है जिसने अपने दो बेटों को एक साथ सीरिया भेजा जो दोनो साथ में शहीद हुए और साथ में जिन्हें दफ्न किया गया)....मुझसे कहा कि मां, दाइश का लक्ष्य ईरान भी है। अगर हम आगे ने बढ़े तो कल ...

टैग्स