Jan २८, २०२१ ०९:०५ Asia/Kolkata
  • नए अमरीकी विदेश मंत्री ने ईरान से की ट्रम्प के लहजे में बात, रूस ने अमरीका की तर्कहीन बात का किया विरोध

रूस ने कहा है कि परमाणु समझौते जेसीपीओए में अमरीका की वापसी बिना शर्त होनी चाहिए।

रूस के विदेश मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में बल दिया जेसीपीओए में अमरीका की वापसी इस अंतर्राष्ट्रीय समझौते के स्वरूप में बिना किसी बद्लाव के होनी चाहिए।

रूस के विदेश मंत्रालय ने ईरान के परमाणु प्रोग्राम पर अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी आईएईए की सटीक निगरानी का ज़िक्र करते हुए बल दिया कि इस समझौते में अमरीका की वापसी इस तरह हो कि  तेहरान पर अलग से प्रतिबद्धताएं न थोपी जाएं और न ही इस समझौते में किसी तरह का बद्लाव हो।

ग़ौरतलब है कि अमरीका के नए विदेश मंत्री ऐंटनी ब्लिन्कन ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ़्रेंस में ईरान से जेसीपीओए की प्रतिबद्धताओं पर वापस लौटने की मांग करते हुए कहा कि अमरीका परमाणु समझौते पर वापसी को व्यापक वार्ता व सहमति की पृष्ठिभूमि के तौर पर इस्तेमाल करेगा।

ग़ौरतलब है कि 8 मई 2018 को अमरीका के परमाणु समझौते से एकपक्षीय रूप से निकलने के बाद ईरान ने इस समझौते के दूसरे पक्षों के इस समझौते पर अमल करने की स्थिति में जेसीपीओए को बचाने की कोशिश की, लेकिन योरोपीय पक्षों ने परमाणु समझौते को बचाने के लिए अपने किसी भी वादे को पूरा नहीं किया।

ऐसे हालात में ईरान की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने, परमाणु समझौते से अमरीकी के निकलने के एक बरस बाद  8 मई 2019 को एलान किया कि इस्लामी गणतंत्र परमाणु समझौते के अनुच्छेद 26 और 36 के तहत इस समझौते के प्रति अपनी प्रतिबद्धताओं को धीरे धीरे कम करता जाएगा ताकि प्रतिबद्धताओं और उसके अधिकार के बीच एक तरह का संतुलन क़ायम हो जाए।

ईरान सरकार ने 5 जनवरी 2020 को एक बयान में इस्लामी गणतंत्र ईरान के जेसीपीओए के प्रति प्रतिबद्धताओं को कम करने के पाँचवें व आख़िरी क़दम उठाने का एलान किया।

परमाणु समझौते के अनुच्छेद 26 और 36 के तहत अगर सामने वाला पक्ष इस समझौते की पाबंदी नहीं करता है तो ईरान को यह अधिकार होगा कि वह भी अपनी प्रतिबद्धताओं को रोक दे।

ईरान बारंबार कह चुका है कि अगर पाबंदियाँ हट जाएं और जेसीपीओए से उसे भी फ़ायदा पहुंचे, तो वह परमाणु समझौते की प्रतिबद्धताओं की ओर लौटने के लिए तय्यार है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान साफ़ कह चुका है कि वह जेसीपीओए में अमरीका की बिना शर्त वापसी चाहता है। (MAQ/N)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स