Jan २९, २०२१ १०:१७ Asia/Kolkata
  • जिसे अपना रास्ता बदलना चाहिए वह अमरीका है, ईरान नहींः तख़्त रवानची

संयुक्त राष्ट्र संघ में ईरान के स्थायी प्रतिनिधि ने अमरीकी विदेश मंत्री के बयान के जवाब में कहा है कि जिस पक्ष को अपना रास्ता बदलना चाहिए, वह अमरीका है।

मजीद तख़्त रवानची ने यूएसए टूडे से बात करते हुए इस सवाल के जवाब में कि क्या ईरान को अपना रास्ता बदल नहीं देना चाहिए, कहा कि ईरान को नहीं बल्कि अमरीका को अपना रास्ता बदलना चाहिए।

उन्होंने कहा कि परमाणु समझौते में अमरीका के वापसी के लिए जो खिड़की खुली थी, वह अब बंद हो रही है।

 संयुक्त राष्ट्र संघ में ईरान के स्थायी प्रतिनिधि ने सचेत किया कि जो बाइडन की सरकार को तेज़ी से क़दम उठाना चाहिए ताकि वह सन 2015 के परमाणु समझौते में वापस लौट सके जिसे पूर्व राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने छोड़ दिया था और इसके लिए अमरीका की नई सरकार को ईरान के ख़िलाफ़ आर्थिक प्रतिबंधों को ख़त्म करना होगा।

याद रहे कि अमरीका का नए विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने एक पत्रकार सम्मेलन मेें दावा किया है कि पहले ईरान को परमाणु समझौते के अंतर्गत अपनी प्रतिबद्धताओं की ओर लौटना होगा और इसके बाद ही अमरीका यह फ़ैसला करेगा कि उसे क्या करना है।

इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ईरान के विदेश मंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने भी कहा  है कि चूंकि वाॅशिंग्टन ने परमाणु समझौते का उल्लंघन किया है और ईरान के ख़िलाफ़ आर्थिक प्रतिबंध लगाए हैं इसलिए पहला क़दम उठाना उसकी ज़िम्मेदारी है। (HN)

 

 

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स