Mar ०३, २०२१ २१:०१ Asia/Kolkata
  • ईरान की अमरीका को दो टूक, आरोप मढ़ने के बजाए अपने अत्याचारों का जवाब दो

ईरान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि अमरीका को चाहिए कि वह यमन में अपने छह वर्षों के अपराध का जवाब दे।

सईद ख़तीबज़ादे ने ईरान के विरुद्ध अमरीका के विदेशमंत्री के कल के निराधार आरोप के बारे में कहा कि यमनी राष्ट्र के दुश्मन, जो पिछले छह वर्षों से इस देश की जनता पर लगातार अत्याचार कर रहे हैं उनको इस सबका जवाब देना होगा।  उन्होंने कहा कि यमन की प्रतिरोधी जनता के मुक़ाबले में वे पराजित हो चुके हैं और अपनी ग़लती का आरोप अब वे दूसरों पर मढ़कर ख़ुद बचना चाहते हैं।

ईरान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि दूसरों पर आरोप लगाने के मामले में अमरीका की नई सरकार ने, पिछली सरकार के रास्ते को अपनाया है।  यह सरकार यमन की वास्तविकताओं को लगातार अनदेखा कर रही है।  उन्होंने कहा कि यमन में शांति की स्थापना एक अमरीकी नारा है जो व्यवहारिक होता नहीं दिखाई दे रहा है।

सईद ख़तीबज़ादे ने कहा कि यमन संकट के आरंभ से ही इस्लामी गणतंत्र ईरान का यही दृष्टिकोण रहा है कि इस संकट का समाधाना सैन्य मार्ग से बिल्कुल नहीं है।  उनका कहना था कि ईरान ने यमन में शांति स्थापित कराने के उद्देश्य से अबतक हर संभव प्रयास किया है।

ज्ञात रहे कि अमरीका के विदेशमंत्री Antony Blinken ने दावा किया है कि यमन का अंसारुल्लाह आन्दोलन, ईरान से हथियार, सूचनाएं और प्रशिक्षण हासिल करके रणक्षेत्र में आगे की ओर बढ़ रहा है जिससे यमन और सऊदी अरब के मूलभूत ढांचे के लिए ख़तरा उत्पन्न हो गया है।  

टैग्स