Mar ०६, २०२१ ०८:१४ Asia/Kolkata
  • इस्राईल की परमाणु गतिविधियों की अनदेखी क्यों? ईरानी प्रतिनिधि का सवाल

वियना में अतंरराष्ट्रीय संगठनों में इस्लामी गणतंत्र ईरान के प्रतिनिधि ने पश्चिमी एशिया में इस्राईल की परमाणु गतिविधियों की आईएईए की ओर से अनदेखी पर कड़ी टिप्पणी करते हुए इसे एक दीर्धकालिक रणनैतिक गलती कहा है।

काज़िम ग़रीब आबादी ने शुक्रवार को अपने एक बयान में कहा कि पश्चिमी एशिया के सभी देश एनपीट के सदस्य हैं और सारे देशों ने यह वचन दिया है कि परमाणु ऊर्जा की अंतरराष्ट्रीय एजेन्सी के समझौते की प्रतिबद्धता करेंगे केवल इस्राईल उनमें शामिल नहीं है। 

उन्होंने कहा कि इस्राईल की ओर से परमाणु हथियारों के एक गुप्त कार्यक्रम पर काम हो रहा है जो इलाक़े और दुनिया के लिए खतरा होने के साथ ही साथ एनपीटी और आईएईए की उपयोगिता पर भी प्रश्न चिन्ह लगाता है। 

ग़रीब आबादी ने कहा कि इस्राईल, एनपीटी की अनदेखी करता है, एनपीटी में शामिल होने से और अपने सभी परमाणु प्रतिष्ठानों को आईएईए के  समझौतों के अंतर्गत लाने तथा विश्व समुदाय की निगरानी से इन्कार करता है  और इस हालात की वजह से इस्राईल की हिम्मत इतनी बढ़ गयी है कि वह अपनी परमाणु गतिविधियों में भटकाव को रोकने के लिए आईएईए के अधिकारों का मज़ाक उड़ाता है। 

उन्होंने कहा कि इस्राईल का दुस्साहस इतना बढ़ गया है कि वह सच्चाई को तोड़ मरोड़ कर पेश कर रहा है और स्वंय एनपीटी पर हस्ताक्षर न करने के बावजूद इस समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले प्रतिबद्ध देशों पर टिप्पणी करता है जो आईएईए की एक बहुत बड़ी गलती है और इसे सुधारने की दिशा में काम किया जाना चाहिए।  Q.A.

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स