Jul ३०, २०२१ २१:४६ Asia/Kolkata
  • इराक़ी गुट ने साफ़ कर दिया, कूटनयिक स्थानों पर हमले में उसका कोई हाथ नहीं

इराक़ की पापुलर आर्मी में शामिल गुट हिज़्बुल्लाह के सैन्य प्रवक्ता का कहना है कि इराक़ का इस्लामी प्रतिरोध कभी भी कूटनयिक स्थलों पर हमले नहीं करता।

जामे जम ऑन लाइन की रिपोर्ट के अनुसार इराक़ी स्वयं सेवी बल हिज़्बुल्लाह के सैन्य प्रवक्ता जाफ़र अलहुसैनी ने यह बयान करते हुए कि इस्लामी प्रतिरोध कभी भी कूटनयिक स्थलों पर हमले नहीं करता, कहा कि अमरीकी दूतावास पर हमला, इराक़ियों को धोखा देने के लिए दुश्मनों की साज़िश का हिस्सा है।

उन्होंने कहा कि प्रतिरोधकर्ता गुटों के टारगेट में कूटनयिक स्थल नहीं हैं। उन्होंने कहा कि कूटनयिक स्थल, इराक़ के इस्लामी प्रतिरोध के लक्ष्यों में शामिल नहीं है।

सैय्यद जाफ़र हुसैनी ने अमरीकी दूतावास को शैतानी और उदंडी दूतावास के रूप में याद किया और कहा कि बग़दाद में अमरीका के शैतानी दूतावास पर हमला, इराक़ियों को धोखा तथा संतुलन को बदलने के लिए दुश्मनों की साज़िश का हिस्सा है।

श्री जाफ़र हुसैनी का कहना था कि अमरीका के शैतानी दूतावास पर हमला करने वाले, विध्वंसक लक्ष्य को लेकर चल रहे हैं और उनके संबंध में संदिग्ध हैं।

ज्ञात रहे कि बग़दाद में अमरीकी दूतावास के समीप दो राकेट गिरे थे। एक इराक़ी सुरक्षा सूत्र ने इस बारे में बताया था कि दो राकेट बग़दाद के ग्रीन ज़ोन क्षेत्र में स्थित अमेरिकी दूतावास के पास गिरे। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स