Aug ०३, २०२१ १३:१२ Asia/Kolkata
  • फ़िलिस्तीनियों की कड़ी चेतावनी के बाद शेख़ जर्राह में जबरन घर ख़ाली करने के अपने फ़ैसले से पीछे हटा इस्राईल

फ़िलिस्तीन प्रतिरोधी संगठनों ने चेतावनी दी है कि अगर ज़ायोनी शासन ने रेड लाइन पार की तो क्षेत्र में उथल-पुथल मच जाएगी, जैसा कि कुछ महीने पहले स्वॉर्ड ऑफ़ अल-क़ुद्स की लड़ाई के दौरान हुआ था।

फ़िलिस्तीनी प्रतिरोध की इस चेतावनी के बाद, मंगलवार को इस्राईल के सुप्रीम कोर्ट ने अवैध अधिकृत पूर्वी बैतुल मुक़द्दस स्थित शेख़ जर्राह के इलाक़े में फ़िलिस्तीनियों के चार घरों को ख़ाली कराने के अपने फ़ैसले को टाल दिया।

अल-अख़बार की रिपोर्ट के मुताबिक़, फ़िलिस्तीनी प्रतिरोध ने मध्यस्थ की भूमिका निभाने वाले मिस्र को सूचित कर दिया था कि शेख़ जर्राह समेत पूरे अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन पर उसकी नज़र है और दुश्मन ने अगर कोई गड़बड़ की तो पूरा क्षेत्र हिलकर रह जाएगा।

फ़िलिस्तीनियों की इस चेतावनी के बाद, मंगलवार को इस्राईली अदालत ने शेख़ जर्राह के निवासियों के सामने तथाकथित सुलह का एक प्रस्ताव रखा था, जिसे फ़िलिस्तीनियों ने ठुकरा दिया है।

अदालत ने फ़िलिस्तीनी परिवारों से कहा है कि अगर वे यह स्वीकार कर लें कि शेख़ जर्राह की ज़मीन यहूदी कंपनी की है और वे घरों का किराया दें, तो वे वहां रह सकते हैं। फ़िलिस्तीनियों ने अदालत के इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया, क्योंकि उनता कहना है कि फ़िलिस्तीनी सरज़मीन फ़िलिस्तीनियों की है और ज़ायोनी यहां अतिक्रमणकारी हैं।   

फ़लस्तीनियों ने अदालत के प्रस्ताव को मानने से इनकार करते हुए कहा है कि वे संपत्ति का अधिकार रखते हैं। msm

टैग्स