Aug ०४, २०२१ १९:२१ Asia/Kolkata
  • ईरान के आस पास क्यों लगातार हो रही हैं संदिग्ध घटनाएं?!

हालिया दिनों में कुछ सूत्रों ने अरब इमारात के तटों पर कुछ जहाज़ों पर घटनाओं की सूचना दी है। समाचार एजेन्सी एसोशिएटेड प्रेस ने इस संबंध में दावा किया है कि इमारात के तटों पर चार जहाज़ नियंत्रण से बाहर हो गये हैं।

इससे पहले कुछ संचार माध्यमों ने अलफुजैरा बंदरगाह के निकट एक जहाज़ पर घटना की खबर दी थी। इन ख़बरों के प्रकाशन के साथ ही पश्चिमी और ज़ायोनी संचार माध्यमों ने यह अफवाह फैलाई थी कि फार्स की खाड़ी और ओमान सागर में जो जहाज़ गुज़र रहे थे उसमें ईरानी सैनिक दाखिल हो गये थे।

ईरान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता सईद ख़तीबज़ादे ने इस प्रकार की निराधार अफवाहों की प्रतिक्रिया में चेतावनी दी और इस संबंध में प्रकाशित होने वाली खबरों को पूरी तरह संदिग्ध बताया।

सवाल यह उठता है कि ओमान सागर और फार्स की खाड़ी में आयल टैंकरों के लिए संदिग्ध घटनायें किसके हित में हैं?

इस संबंध में दो संभावनायें पाई जाती हैं। पहले यह कि काल्पनिक तौर पर क्षेत्र को आयल टैंकरों और व्यापारिक जहाज़ों के लिए अशांत दर्शाया जाये। इस स्थिति में इसका लाभ अमेरिका, ब्रिटेन, जायोनी शासन, सऊदी अरब और क्षेत्र के कुछ उन देशों व शासनों को मिलेगा जो ओमान सागर और फार्स की खाड़ी में अपने लक्ष्य साधने की चेष्टा में हैं।

इन अफवाहों के संबंध में दूसरी संभावना यह है कि इस प्रकार की अफवाहों से ईरान पर अधिक से अधिक दबाव डालना है ताकि इस मार्ग से वे अपने लक्ष्यों को प्राप्त कर लें।

इस संबंध में दो विषयों को पेश किया जा सकता है पहला यह कि वियना में जो परमाणु वार्ता हो रही थी उसका भविष्य व अंजाम विलंबित हो गया है और दूसरे क्षेत्र में प्रतिरोध और ईरान की सैन्य उपस्थिति को कमज़ोर करना है।

इस आधार पर प्रतीत यह हो रहा है कि इस्राईल अपने लक्ष्यों को साधने के लिए फार्स की खाड़ी और ओमान सागर को असुरक्षित दर्शाना और साथ ही वह ईरान को सुरक्षा चुनौतियों में व्यस्त रखना और उलझाना चाहता है। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स