Aug २०, २०२१ १९:०८ Asia/Kolkata

कर्बला की ऐतिहासिक घटना कि जिसमें बनी उमय्या को अपने लक्ष्यों तक पहुंचने में शर्मनाक पराजय का सामना करना पड़ा था वहीं इस्लाम को क़यामत तक के लिए ज़िन्दा कर दिया। यमनी जनता ने इस वर्ष भी कर्बला की दुखद घटना का याद करते हुए लाखों की उपस्थिति में एक शोक सभी आयोजित की और अत्याचारियों के मुक़ाबले में डटे रहने वाले इमाम हुसैन के रास्ते पर चलने के अपने संकल्प को दोहराया, शोक सभा के एक अज़ादार का कहना है कि यह अज़ादारी और गतिविधियां जो यमन के विभिन्न इलाक़ों में आयोजित हो रही हैं यह कर्बला के संदेश ...

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स