Sep २१, २०२१ १०:५२ Asia/Kolkata
  • सऊदी अरब, यमनी जनता के ख़ून में जितना डूबेगा, उतना उसका बाहर निकलना मुश्किल होगा...

यमन की सर्वोच्च राजनैतिक परिषद के प्रमुख ने कहा है कि हमलावर सऊदी गठबंधन ने यमन की जनक्रांति को ख़त्म करने की भरपूर कोशिश की किन्तु सफल नहीं हो सकता और यह क्रांति आज भी मज़बूती के साथ जारी है।

अलमसीरा चैनल की रिपोर्ट के अनुसार यमन की सर्वोच्च राजनैतिक परिषद के प्रमुख महद अलमश्शात ने अपने संबोधन में कहा कि इस समय शांति की स्थापना के लिए राजनैतिक हल के लिए कोई भी मध्यस्थ मौजूद नहीं है और सऊदी अरब, मध्यस्थता के लिए ओमान की कोशिशों के मुक़ाबले में शांति का नारा तो लगाता है किन्तु उसके विपरीत कार्यवाही करता है।

महदी अलमश्शात ने कहा कि अमरीका, यमन के विरुद्ध हमले का मुख्य ज़िम्मेदार है जबकि दूसरे देश उसके पिट्ठु हैं, इन हालात में यमन ने दुश्मन के हमलों और यमन की अर्थव्यवस्था को तबाह व बर्बाद करने के लिए अमरीकी धमकियों का मुक़ाबला किया और इस साज़िश को नाकाम बना दिया।

यमन की सर्वोच्च राजनैतिक परिषद के प्रमुख ने संयुक्त राष्ट्र संघ की ओर से यमन के ख़िलाफ़ हमला करने वाले देशों का समर्थन किए जाने की आलोचना करते हुए कहा कि सैन्य और राजनैतिक मामलों से मानवीय मुद्दों का सौदा अस्वीकार्य है।

महदी अलमश्शात ने मआरिब के सैन्य और युद्ध के हालात के बारे में कहा कि हम यमन को हमलावरों के क़ब्ज़े से आज़ाद कराएंगे, चाहे वह यमन हो या कोई और इलाक़ा हो। उनका कहना था कि सऊदी सरकार यमनी जनता के ख़ून में जितना डूबती जाएगी उसके लिए उससे बाहर निकलना उतना की मुश्किल होगा। (AK)  

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स