Sep २२, २०२१ २१:१० Asia/Kolkata
  • सीरिया पर अमरीका ने लगाए प्रतिबंध और अब ख़ुद ही खुलवा रहा है रास्ते, हिज़्बुल्लाह ने ध्वस्त कर दीं अमरीकी शिकंजे की बुनियादें, क्या है ईरान की भूमिका?

सीरिया पर अमरीका ने जो प्रतिबंध लगाए वह अपने आप ध्वस्त होते जा रहे हैं। सीरिया के रक्षा मंत्री एमाद अली अय्यूब ने हाल ही में जार्डन की जो यात्रा की और जार्डन की सेना के चीफ़ आफ़ स्टाफ़ जनरल युसुफ़ हुनैती ने उनका जिस गर्मजोशी से इस्तेक़बाल किया वह इस विचार का बहुत ठोस सुबूत है।

जार्डन इस तरह का कोई भी क़दम अमरीका की ओर से ग्रीन सिग्नल मिले बग़ैर उठा ही नहीं सकता। सीरिया का दरआ शहर जार्डन के लिए गंभीर चिंता का विषय बना हुआ था जहां से छापामार संगठन हथियार और मादक पदार्थ जार्डन स्मगल कर रहे थे। जार्डन सरकार चाहती थी कि दमिश्क़ सरकार से उसके संबंध बहाल हो जाएं ताकि सुरक्षा समन्वय के ज़रिए इस गंभीर समस्या से निपटा जा सके।

पहले इस नगर में जार्डन समर्थक छापामार संगठन थे जिनकी पकड़ अब कमज़ोर पड़ती जा रही है और यह जार्डन के लिए चिंता का विषय है।

जार्डन और सीरिया के बीच आर्थिक और सुरक्षा संबंध बढ़ते हैं और दोनों के बीच सीमा पर चेकपोस्टें खुल जाती हैं तो व्यापार को बढ़ावा मिलेगा और तुर्की, लेबनान और सीरिया के बने हुए सामान फ़ार्स खाड़ी के अरब देशों की मंडियों तक पहुंच सकेंगे। इसका फ़ायदा जार्डन के सरकारी ख़ज़ाने को होगा जो बजट घाटे की समस्या से जूझ रहा है।

अमरीकी प्रशासन अब अपनी हार मानने की तैयारी कर रहा है क्योंकि उसने सीरिया पर जो प्रतिबंध लगाया था वह नाकाम हो गया। हिज़्बुल्लाह लेबनान ने ईरान से तेल सीरिया के रास्ते लेबनान पहुंचाया जिसके बाद अमरीकी दूतावास की बड़ी किरकिरी हो गई।

सीरिया बड़ी मज़बूती से क्षेत्रीय और अरब जगत के मंच पर अपनी पुरानी भूमिका में लौट रहा है जबकि अमरीकी एजेंडा नाकाम हो चुका है।

अफ़ग़ानिस्तान में अपनी शिकस्त के बाद अमरीका ने पश्चिमी एशिया से बोरिया बिस्तर समेट लेने का फ़ैसला कर लिया है और अपने घटकों को उनके हाल पर छोड़ देने का फ़ैसला लिया जा चुका है। अगर अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडन अब सीरिया और इराक़ से अपने सैनिकों को निकालने की घोषणा कर देते हैं तो हमें हरगिज़ हैरत नहीं होगी। बल्कि ख़बरें हैं कि सीरिया और रूस के राष्ट्रपतियों की वार्ता में इस विषय पर मुख्य रूप से बात हुई।

स्रोतः रायुल यौम

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स