Sep २३, २०२१ २०:३२ Asia/Kolkata
  • यूएई में इस्राईल का अंडर ग्राउंड सैन्य सिटी, जिसे मिसाइलों से भी कोई नुक़सान नहीं पहुंचेगा

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने एक साल पहले इस्राईल के साथ संबंधों को सामान्य बनाने वाला समझौता किया था, उसके बाद से यह अरब और मुस्लिम देश, ज़ायोनी उपनिवेश में बदलने का प्रयास कर रहा है।

यूएई और इस्राईल के बीच समझौते के महत्वपूर्ण परिणामों में से एक दोनों के बीच सैन्य रिश्तों को मज़बूत बनाना और सैन्य गठजोड़ तैयार करना है।

फ़िलिस्तीन और मुस्लिम देशों में इस समझौते की व्यापक आलोचना के बावजूद, कुछ ही दिन बाद अबू-धाबी ने तेल-अवीव को सैन्य प्रदर्शनी में भाग लेने की दावत दी, जिसके बाद ज़ायोनी शासन ने वहां उन हथियारों को प्रदर्शन के लिए रखा, जिन्हें बेगुनाह और पीड़ित फ़िलिस्तीनियों के जनसंहार के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

बात सिर्फ़ यहीं ख़त्म नहीं हो जाती है, बल्कि अल-जज़ीरा की रिपोर्ट के मुताबिक़, इस्राईल फ़ार्स खाड़ी के किनारे संयुक्त अरब इमारात में एक अंडर ग्राउंड सैन्य सिटी का निर्माण कर रहा है। यानी तेल-अवीव और अबू-धाबी के बीच सैन्य सहयोग पिछले साल होने वाले समझौते से भी कहीं पुराना है। क्योंकि इस सैन्य सिटी का निर्माण 2019 से जारी है।

रिपोर्ट के मुताबिक़, इस सिटी के निर्माण में उच्च आधुनिक सुरक्षा तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है और उसकी गहराई 330 मीटर है, जिसकी वजह से उसे मिसाइल से भी निशाना नहीं बनाया जा सकेगा। msm

टैग्स