Oct १५, २०२१ ११:५४ Asia/Kolkata

हिज़्बुल्लाह, अमल आंदोलन और अलमरदा पार्टी के अह्वान पर लेबनानियों का विरोध प्रदर्शन अज्ञात लोगों की फ़ायरिंग की वजह से हिंसक हो गया

यह विरोध प्रदर्शन बैरूत बंदरगाह धमाके के बारे में बैतार न्यायधीश के शत्रुतापूर्ण और अन्यायपूर्ण फ़ैसले और कुछ मुजरिमों की अनदेखी किए जाने के ख़िलाफ़ हो रहा था....एक प्रत्यक्ष दर्शी का कहना है कि हम न्यायाधीश बीतार के फ़ैसले का विरोध करने के लिए आए थे कि 10 बजकर 45 मिनट पर प्रदर्शनकारियों पर अज्ञात लोगों ने फ़ायरिंग शुरू कर दी।

लेबनान की रेड क्रिसेंट सोसायटी ने प्रदर्शनकारियों पर अज्ञात लोगों की फ़ायरिंग में हताहत होने वालों की संख्या 6 और घायल होने वालों की संख्या 30 बताई है जबकि घायलों में कुछ की हालत चिंताजनक है।

 लेबनान की एक महिला डाक्टर का कहना है कि अस्पताल में लाए गये 12 लोगों में दो लोग हताहत हो चुके थे, स्नाइपरों ने लोगों के सिरों को निशाना बनाने की कोशिश की थी, कुछ प्रत्यक्षदर्शियों का कहना था कि फ़ायरिंग लेबनानी फ़ोर्सेज़ पार्टी की ओर से की गयी थी।

हिज़्बुल्लाह और अमल आंदोलन ने एक संयुक्त बयान जारी करके फ़ायरिंग की घटना की कड़ी निंदा की और इसका लक्ष्य लेबनान में मतभेद फैलाना क़रार दिया, दोनों पार्टियों ने लोगों से संयम से काम लेने तथा सेना से तुरंत कार्यवाही करने और अपराधियों को तुरंत गिरफ़्तार करने की मांग की।

अमरीकी बैरूत बंदरगाह पर होने वाले धमाके की हक़ीक़त छिपाने के प्रयास में हैं और यह कार्यवाही, त्रासदी में इस्राईल के लिप्त होने की बात को मज़बूती प्रदान करती है।

लेबनान में कुछ मंत्रियों और प्रतिनिधियों की गिरफ़्तारी पर आधारित बैरूत की बंदरगाह के धमाके के मामले की जांच करने वाले जांचकर्ता के आदेश पर आपत्ति करने के लिए होने वाला प्रदर्शन हिंसक हो गया

 जांचकर्ता तारिक़ बैतार के ख़िलाफ़ बैरूत की अदालत की इमारत के सामने विरोध प्रदर्शन करने वाले छह लोग हताहत और लगभग 30 अन्य लोग घायल हो गये, बैरूत की अदालत के बाहर कुछ लोगों ने बैतार न्यायधीश के क्रियाकलाप के विरुद्ध प्रदर्शन किए, इसी बीच अज्ञात लोगों ने प्रदर्शनकारियों पर फ़ायरिंग शुरू कर दी, इसी बीच सुरक्षा बलों को इमारत के बाहर तैनात कर दिया गया और सहायताकर्मियों ने पीड़ितों को मदद पहुंचानी शुरू कर दी, फ़ायरिंग कई बार हुई और लेबनानी मीडिया ने वहां पर मौजूद कई स्नाइपरों के मौजूद होने की ओर इशारा किया और कहा कि सुरक्षा बलों ने इनमें से कुछ लोगों को गिरफ़्तार कर लिया है।

 एक प्रत्यक्ष दर्शी का कहना है कि स्नाइपरों ने प्रदर्शनकारियों के सिरों को निशाना बनाया, कुछ लेबनानी मीडिया का कहना है कि इन स्नाइपरों का संबंध लेबनानी फ़ोर्सेज़ नामक पार्टी से है, लेबनान के राष्ट्रपति मशअल औन ने देश के प्रधानमंत्री, रक्षामंत्री, गृहमंत्री और सेना प्रमुख से टेलीफ़ोन पर बातचीत करके हालात का जाएज़ा लिया, लेबनानी प्रधानमंत्री नजीब मीक़ाती ने सारे मंत्रियों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

 नजीब मीक़ाती ने इसी तरह गृहमंत्री बस्साम मौलवी और रक्षामंत्री मोरिस सलीम से तयूना क्षेत्र के हालात का जाएज़ा लिया और इस स्थिति के बारे में केन्द्रीय सुरक्षा परिषद की आपातकालीन बैठक बुलाने की मांग की, गुरुवार को तयूना क्षेत्र में कई बार फ़ायरिंग की आवाज़ सुनाई दी, फ़ायरिंग की यह घटना एसी स्थिति में घटी कि बैरूत बंदरगाह मामले की जांच कर रहे न्यायाधीश तारिक़ बैतार के क्रियाक्लाप के ख़िलाफ़ हिज़्बुल्लाह और अमल आंदोलन के कुछ समर्थक प्रदर्शन कर रहे थे और वह अदालत की इमारात के बाहर प्रदर्शन करने के लिए अदलिया इलाक़े की ओर जा रहे थे। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स