Oct २१, २०२१ ०९:४७ Asia/Kolkata

सीरिया की राजधानी दमिश्क़ में इस देश के सैनिकों के मार्ग में किये जाने वाले विस्फोट की ज़िम्मेदारी, "सराया क़ासियून" गुट ने स्वीकार की है।

सीरिया की सरकारी समाचार एजेन्सी साना के अनुसार देश में आतंकवादी कार्यवाहियों में लिप्त सराया क़ासियून नामक गुट ने गुरूवार को टेलिग्राम पर एक बयान जारी करके दमिश्क़ विस्फोट की ज़िम्मेदारी क़बूल की है।

इस आतंकी गुट ने दावा किया है कि सीरिया की सरकार के नियंत्रण वाले क्षेत्रों में वह आगे भी आतंकवादी कार्यवाहियां करता रहेगा।  यह आतंकवादी गुट इससे पहले भी सीरिया की सेना के विरुद्ध कुछ कार्यवाहियों की ज़िम्मेदारी स्वीकार कर चुका है।

याद रहे कि बुधवार की सुबह एक विस्फोट उस समय हुआ जब सीरियाई सैनिकों की गाड़ी दमिश्क में अर्रईस नामक पुल के नीचे से गुज़र रही थी। इस विस्फोट का कारण वे दो बम थे जिन्हें बस के रास्ते में रखा गया था।  इस विस्फोट में 14 सीरियन सैनिक मारे गए और कई अन्य घायल हो गए।

सीरिया के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करके इस विस्फोट की निंदा करते हुए बताया था कि सेना से हारने वाले आतंकी गुट, आतंकवादियों का मनोबल बढ़ाने के लिए इस प्रकार की कार्यवाहियां कर रहे हैं, हालांकि वे सीरिया की सेना के हाथों विभिन्न मोर्चों पर बुरी तरह से पराजित हुए हैं।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स