Oct २२, २०२१ ०९:५३ Asia/Kolkata
  • सऊदी अरब और अमेरिका ने फिर मिलकर किया इंसानियत को शर्मसार, यमनी जियालों ने दिया मुंहतोड़ जवाब

हमलावर सऊदी गठबंधन और अमेरिकी युद्धक विमानों ने इंसानियत को शर्मसार करते हुए गुरुवार को यमन की राजधानी सनआ में स्थित दवा के भंडार को निशाना बनाया है। वहीं सऊदी-अमेरिकी गठबंधन के इस मानवता विरोधी कार्यवाही का मुंहतोड़ जवाब देते हुए यमनी जियालों ने जीज़ान इलाक़े में मौजूद सऊदी अरब के सैन्य ठिकानों पर मिसाइलों की बारिश कर दी।

समाचार चैनल अलमसीरा की रिपोर्ट के मुताबिक़, सऊदी-अमेरिकी गठबंधन द्वारा यमन में अंजाम दिए गए ताज़ा अपराध में इन हमलावरों के युद्धक विमानों ने यमन की राजधानी सनआ के उत्तर में स्थित सावान क्षेत्र में एक दवा भंडार को निशाना बनाया है। एक ओर जहां संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) ने हाल ही में अपनी रिपोर्ट में यह घोषणा की है कि जबसे हमलावर सऊदी गठबंधन ने यमन पर हमले आरंभ किए हैं तब से अब तक 10 हज़ार यमनी बच्चे मारे गए और घायल हुए हैं। वहीं गुरुवार को हमलावरों के ज़रिए दवा भंडार पर किए गए हमले के बाद से यमन में चिकित्सा गतिविधियों पर भारी असर पड़ा है। ग़ौरतलब है कि हमलावर सऊदी गठबंधन के हमलों में जहां पहले से ही यमन के अस्पतालों और चिकित्सा क्षेत्र की स्थिति बहुत ही ख़राब है और यमनी राष्ट्र सही से इलाज न मिल पाने की वजह से एक बड़ी त्रास्दी के मुहाने पर है, वहां सऊदी-अमेरिका गठबंधन के युद्धक विमानों द्वारा दवा भंडार पर हमले ने यमन की चिकित्सा प्रणाली पर गहरी चोट पहुंचाई है।

इस बीच यमन की राष्ट्रीय मुक्ति सरकार के वार्ता दल के प्रमुख ने दवा और चिकित्सा उपकरणों के गोदाम पर सऊदी-अमेरिकी हमलावर गठबंधन के हमले का उल्लेख किया और कहा: "यह हमला संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पक्षपातपूर्ण बयान की आड़ में किया गया है। मोहम्मद अब्दुस्सलाम ने अपने ट्वीट में लिखा है कि हम न कभी अत्याचारियों के सामने झुके हैं और न ही कभी झुकेंगे। यमनी राष्ट्र हर ज़ुल्म का मुंहतोड़ जवाब देगा और हमलावरों का पूरी दृढ़ता के साथ मुक़ाबला करता रहेगा। मोहम्मद अब्दुस्सला ने कहा कि आज सुरक्षा परिषद के किसी बयान का किसी पर कोई असर देखने को नहीं मिलता है जिसके लिए वह ख़ुद ज़िम्मेदार है। एक ओर सुरक्षा परिषद युद्धविराम की बात करता है वहीं दूसरी ओर सऊदी-अमेरिकी गठबंधन के युद्धक विमान यमन की जनता पर बम बरसा कर सुरक्षा परिषद के बयान का मज़ाक उड़ाते हैं।

वहीं यमनी सेना के प्रवक्ता यहया सरी ने यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों द्वारा सऊदी-अमेरिकी गठबंधन द्वारा किए गए मानवता विरोधी कृत्य का दिए मुंहतोड़ जवाब के बारे में बताते हुए कहा कि हमने जीज़ान में स्थित सऊदी गठबंधन के एक महत्वपूर्ण ठिकाने पर 6 बैलिस्टिक मिसाइलों से हमला किया है। यहया सरी ने बताया कि बैलिस्टिक मिसाइलों द्वारा हमलावरों को दिए गए मुंहतोड़ जवाब में सऊदी गठबंधन अपाचे हेलीकॉप्टरों के पार्किंग क्षेत्र, गोला-बारूद के डिपो और हमलावरों के ऑपरेशनल कमान को निशाना बनाया गया है। यमनी सेना के प्रवक्ता ने बताया कि इस जवाबी कार्यवाही में 35 से अधिक सउदी गठबंधन के लड़ाके मारे गए और कई सैन्य अधिकारी और पायलट घायल हुए हैं।  (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजि

 

 

टैग्स