Nov २१, २०२१ १७:३२ Asia/Kolkata

....यमनी सेना की ड्रोन युनिट ने सऊदी अरब के भीतर एक बड़ा आप्रेशन करते हुए राजधानी रियाज़ में किंग ख़ालिद छावनी पर चार ड्रोन विमानों से बड़ा हमला कर दिया।

यह हमला सम्माद-3 नाम के ड्रोन से किया गया। इसके अलावा जद्दा में किंग अब्दुल्लाह अंतर्राष्ट्रीय छावनी, आरामको कंपनी की रिफ़ाइनरी, अबहा अंतर्राष्ट्रीय छावनी इसी तरह जीज़ान और नजरान में दूसरे कई सैनिक ठिकानों पर यह बड़ा हमला हुआ है।.....यमनी सैनिक अफ़सर का कहना था कि दुश्मन को यह संदेश देना ज़रूरी है कि प्रतिरोधक कार्यवाही का यह चरण दरअस्ल यमन के इलाक़ों पर दुश्मन के हालिया हमलों का जवाब है और यह कि हम दुश्मन के प्रमुख ठिकानों पर हमले की क्षमता रखते हैं।.....जब सऊदी अरब के भीतर एक साथ यह हमले हुए तो सऊदी अरब के कुछ सूत्रों ने बताया कि इन इलाक़ों में भीषण धमाकों की आवाज़ें सुनी गई हैं।

इसके बाद कई एयरपोर्ट से विमानों की आवाजाही रोक दी गई।... यमन के सैनिक अफ़सर का कहना था कि वर्तमान समय में यह बड़ा हमला कई तरह के संदेश दे रहा है कि यमन की राजधानी सनआ पर हमले को नज़रअंदाज़ नहीं किया जाएगा। इस हमले से सऊदी अधिकारियों को यह संदेश दे दिया गया है कि यमन के मामले में कोई भी हिमाक़त करने से बचें। यमन के लोगों में इस बड़े हमले पर काफ़ी उत्साह देखने में आया और आम लोगों का कहना था कि जवाबी कार्यवाही करना हमारा अधिकार है। क्योंकि सऊदी अरब ने हमारे देश पर हमला किया है। अब ज़रूरी है कि सऊदी अरब के हमलों का ज़ोरदार जवाब दिया जाए।

यमन की ओर से यह जवाबी हमला सऊदी गठबंधन की ओर से बयान जारी होने के समय किया गया। इस बयान में सऊदी अरब ने कहा था कि वह सनआ एयरपोर्ट पर हमले की योजना बना रहा है क्योंकि इस एयरपोर्ट पर सऊदी अरब के दावे के अनुसार संदिग्ध गतिविधियां देखी जा रही हैं। हालांकि सनआ एयरपोर्ट बंद पड़ा है और यमन के लोगों को इंतेज़ार है कि यह एयरपोर्ट जल्द खुल जाए ताकि मानवता प्रेमी सहायताएं भेजना संभव हो। सनआ से आईआरआईबी के लिए अब्दुल्ला युसुफ़ी की रिपोर्ट

 

टैग्स