Nov २५, २०२१ ०९:१५ Asia/Kolkata
  • ज़ायोनी शासन का विरोध नहीं छोड़ेगे चाहे जितने भी प्रतिबंध लगाओ, हिज़बु्ल्लाह की कड़ी चेतावनी

हिज़बु्ल्लाह ने कहा है कि अमरीकी और ज़ायोनी आदेशों के कारण आस्ट्रेलिया ने इस प्रतिरोधी संगठन के विरुद्ध क़दम उठाया है।

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आन्दोलन ने घोषणा की है कि आस्ट्रेलिया की ओर से इस संगठन को आतंकवादियों की सूचि में रखने का काम अमरीक और इस्राईल के आदेश पर किया गया है।

हिज़बुल्लाह ने एक बयान जारी करके आस्ट्रेलिया के अधिकारियों के इस फैसले की कड़ी निंदा की है।  इस बयान में कहा गया है कि हालिया फैसला और इसी प्रकार के अन्य फैसले जो कुछ पश्चिमी देशों की ओर से लिए गए वे किसी भी स्थिति में लेबनानी राष्ट्र के मनोबल को कमज़ोर नहीं कर पाएंगे।

बयान के अनुसार आस्ट्रेलिया का फैसला किसी भी स्थिति में अपनी मातृभूमि और लेबनानी राष्ट्र की सुरक्षा के हिज़बुल्लाह के अधिकार को नहीं छीन सकता।  हिज़बुल्लाह का कहना है कि अवैध ज़ायोनी शासन के अतिक्रमण का विरोध और प्रतिरोधी आन्दोलनों का समर्थन जारी रहेगा इसमें कोई भी परिवर्तन नहीं आएगा।

हिज़बुल्लाह की ओर यह बयान आस्ट्रेलिया की सरकार के उस फैसले के बाद आया है जिसमे उसने बुधवार को हिज़बुल्लाह को आतंकवादी गुटों की सूचि में शामिल करने की घोषणा की थी।  अवैध ज़ायोनी शासन द्वारा की गई लाॅबिंग के बाद आस्ट्रेलिया ने यह क़दम उठाया है।

उल्लेखनीय है कि वर्षों से अमरीका और ज़ायोनी शासन, लेबनान के भीतर और बाहर हिज़बुल्लाह की लोकप्रियता को समाप्त करने के प्रयास करते आ रहे हैं।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स