Dec ०३, २०२१ ११:५१ Asia/Kolkata
  •  इस्राईल से आर-पार की लड़ाई का समय आ गया है, अमेरिका का पीछे हटना इस्राईल के पीछे हटने की भूमिका हैः इस्माईल हनिया

फ़िलिस्तीन के पूर्व प्रधानमंत्री इस्माईल हनिया ने कहा है कि जायोनी शासन से आप- पार की लड़ाई का समय आ गया है और अमेरिका अब विश्व का थानेदार नहीं है।

समाचार एजेन्सी तसनीम की रिपोर्ट के अनुसार इस्माईल हनिया ने तुर्की के इस्तांबोल नगर में आयोजित एक कांफ्रेन्स में कहा कि जो परिवर्तन हुए हैं वे बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि उनमें फिलिस्तीनी, क्षेत्रीय और इस्लामी जनता की इच्छा व आरज़ुयें शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि अतिग्रहणकारी ज़ायोनी शासन से एतिहासिक जंग का समय आ गया है और इस्लामी जगत को चाहिये कि वह न केवल जायोनियों से मुकाबले का कार्यक्रम बनाये बल्कि फिलिस्तीन को आज़ाद कराने के साथ- साथ फिलिस्तीनी शरणार्थियों की वापसी का भी कार्यक्रम बनाये।

इस्माईल हनिया ने कहा कि जायोनी शासन से मुकाबले के लिए सहकारिता एक वास्तविक सहकारिता व सहयोग है और इस्लामी जगत व राष्ट्र फिलिस्तीनी जनता के समर्थन और कुद्स की आज़ादी से पीछे नहीं हटा है।

इसी प्रकार उन्होंने इस्राईल से मुकाबले के लिए समस्त इस्लामी धड़ों द्वारा एक संयुक्त मोर्चा बनाये जाने को ज़रूरी बताया और कहा कि जायोनी शासन से संबंधों को सामान्य बनाने वाले कार्यक्रम को विफल बनाने का कार्यक्रम हमें बनाना चाहिये क्योंकि जो देश जायोनी शासन से संबंधों को सामान्य बनाना चाह रहे हैं इससे वे कमज़ोर जबकि इस्राईल मज़बूत होगा।

उन्होंने "सैफुल कुद्स" नाम की लड़ाई को जायोनी शासन से लड़ाई की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण मोड़ बताया और कहा कि क़ुद्स की तलवार न्याम में नहीं जायेगी मगर यह कि फिलिस्तीन व कुद्स आज़ाद हो जायें।

उन्होंने अफगानिस्तान से अमेरिका के निकल जाने के संबंध में कहा कि यह पीछे हटना जायोनी शासन के पीछे हटने की भूमिका है और अमेरिका और उसके घटकों और उनमें सर्वोपरि इस्राईल के कमज़ोर होने का कारण बनेगा। हमास के राजनीतिक कार्यालय के अध्यक्ष ने कहा कि अमेरिका अब दुनिया का थानेदार नहीं है और अब वह दुनिया पर अपने वर्चस्व को नहीं थोप सकता। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स