Jan १८, २०२२ २३:४७ Asia/Kolkata
  • ईरान के एहसान का हम बदला नहीं दे सकतेः सीरिया

सीरिया के राष्ट्रपति के सलाहकार ने कहा है कि ईरान ने बहुत बुरे समय में हमारा साथ दिया।

लोना अश्शबेल ने बताया कि सीरिया और ईरान के संबन्ध बहुत पुराने हैं।  उन्होंने कहा कि संकट के समय इस्लामी गणतंत्र ईरान ने हमारा हर तरह से साथ दिया।

बश्शार असद की विशेष सलाहकार ने मंगलवार को रश्याटूडे चैनेल से बात करते हुए कहा कि अब सीरिया, अमरीकी और पश्चिमी देशों के प्रतिबंधों को विफल बनाने में सफल हो चुका है।  उन्होंने कहा कि अब हम अपने नागरिकों की मूलभूत आवश्यकताएं पूरी करने में सक्षम हैं।

लोना अश्शबेल ने यह भी कहा कि हम ईरान के एहसानों का बदला उतारने की कोशिश करेंगे क्योंकि उसने बुरे समय में हमारा साथ दिया।  उन्होंने बताया कि ज़ायोनियों की ओर से सीरिया पर हमले, आतंकवादियों के समर्थन में किये जाते हैं।  उनका कहना था कि जब भी सीरिया में सक्रिय आतंकवादी कमज़ोर पड़ने लगते हैं उसी समय अवैध ज़ायोनी शासन की ओर से हमले आरंभ हो जाते हैं।

उल्लेखनीय है कि सीरिया का संकट सन 2011 में आरंभ हुआ था।  अमरीका और उसके घटकों का समर्थन प्राप्त आतंकवादी गुटों ने 2011 में सीरिया के भीतर विध्वंस कार्यवाहियां आरंभ कर दींं।  इन आतंकी गुटों का मुख्य लक्ष्य, क्षेत्रीय समीकरणों को अवैध ज़ायोनी शासन के हित में मोड़ना था।

सीरिया ने ईरान के सैन्य सलाहकारों और रूस के समर्थन से आतंकवादितयों की कमर तोड़ दी।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स