Jan २२, २०२२ ०८:२३ Asia/Kolkata
  • यूएई और सऊदी का यमन में जनसंहार, 77 की मौत, विदेशी नागरिक और कंपनियां यूएई छोड़ दें, यमन की चेतावनी

अल-हौसी आंदोलन और यमनी सेना ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) पर हमलों की चेतावनी देते हुए कहा कि इस देश में रहने वाले विदेशी नागरिक और कंपनियां जितने जल्दी संभव हो सके वहां से चले जाएं।

शुक्रवार को यमन के सादा प्रांत के कई इलाक़ों पर सऊदी और अमीराती लड़ाकू विमानों ने भीषणा बमबारी की, जिसमें सैकड़ों लोगों के मारे जाने की ख़बर है। हमलावर सैन्य गठबंधन के लड़ाकू विमानों ने सादा की एक जेल को भी निशाना बनाया, जिसमें 77 लोगों की मौत हो गईय जबकि 140 से अधिक ज़ख़्मी हो गए।

सऊदी अरब और यूएई द्वारा यमन में इस भयानक जनसंहार के बाद यमनी सशस्त्र सेनाओं के प्रवक्ता यहया सरी ने यूएई में रहने वाले विदेशी नागरिकों के लिए चेतावनी जारी की है।

पिछले ही हफ़्ते यमनी सेना ने जवाबी कार्यवाही करते हुए अबू-धाबी एयरपोर्ट और तेल रिफ़ाइनरी समेत कई रणनीतिक लक्ष्यों को निशाना बनाया था, जिसमें 2 भारतीय और एक पाकिस्तानी नागरिक की मौत हो गई थी।

इस बीच, शुक्रवार देर रात गए यमन की सर्वोच्च राजनीतिक परिषद ने चेतावनी देते हुए कहा है कि सऊदी अरब और अमीरात द्वारा किए गए जनसंहार का जवाब ज़रूर दिया जाएगा।

शुक्रवार को यमन की राजधानी सना में हज़ारों प्रदर्शनकारियों ने सैन्य गठबंधन के हमलों की निंदा की और यमन में जारी युद्ध अपराधों पर विश्व समुदाय की चुप्पी पर सवाल उठाए। msm

टैग्स